प्रदेश
Trending

स्वतंत्रता दिवस पर बिना इजाजत बाइक रैली करना आप को पड़ा भारी

स्वतंत्रता दिवस पर बिना अनुमति के बाइक रैली निकालना आम आदमी पार्टी (आप) के एक विधायक और उनके कार्यकर्ताओं का भारी पड़ गया। इस दौरान उन पर कोविड नियमों का उल्लंघन करने का भी आरोप है।

दिल्ली पुलिस ने इस मामले में कोंडली विधानसभा सीट से ‘आप‘ विधायक कुलदीप कुमार मोनू और कई अन्य लोगों के खिलाफ कल्याणपुरी थाने में स्वतंत्रता दिवस पर बिना अनुमति के बाइक रैली करने का मामला दर्ज किया है।

दिल्ली पुलिस के अनुसार, विधायक कुलदीप मोनू, ‘आप’ पार्षद धीरेंद्र गौतम और कोंडली विधानसभा क्षेत्र की पार्टी प्रभारी अनीता भट्ट 15 अगस्त को बाइक रैली का नेतृत्व कर रहे थे। कल्याणपुरी इलाके में राष्ट्रीय ध्वज पकड़े करीब 25 लोग एकत्र हुए थे।

पुलिस ने कहा कि इस दौरान इन नेताओं और उनके सभी समर्थकों ने COVID मानदंडों का पालन नहीं किया और उनमें से अधिकांश ने तो मास्क भी नहीं पहना हुआ था। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, कुलदीप मोनू और अन्य को इस तरह की रैली करने की इजाजत नहीं दी गई थी।

जंतर-मंतर मामला : दिल्ली पुलिस ने कहा- अश्विनी उपाध्याय के एक आरोपी से संबंध थे

वहीं, दिल्ली पुलिस ने सोमवार को दावा किया कि वकील और दिल्ली भाजपा के पूर्व प्रवक्ता अश्विनी उपाध्याय के जंतर-मंतर पर कथित तौर पर सांप्रदायिक नारेबाजी करने वाले पांच गिरफ्तार आरोपियों में से एक के साथ संबंध थे। दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने दावा किया कि आरोपी प्रीत और उपाध्याय एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं। कार्यक्रम का आयोजन करने से पहले पुलिस को सौंपे गए आवेदन में प्रीत का नाम था।

पुलिस ने मामले में अश्विनी उपाध्याय सहित छह लोगों को गिरफ्तार किया था। दिल्ली की एक अदालत ने उपाध्याय को बुधवार को जमानत दे दी, जिन्होंने कथित तौर पर मुस्लिम विरोधी नारेबारी की घटना में किसी तरह की संलिप्तता से इनकार किया है। सोशल मीडिया पर शेयर किए गए एक वीडियो में जंतर-मंतर पर एक प्रदर्शन के दौरान मुस्लिम विरोधी नारेबाजी दिखी। इसके बाद दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज किया था।

जंतर-मंतर पर आठ अगस्त को आयोजित कार्यक्रम ‘भारत जोड़ो आंदोलन’ में सैकड़ों लोगों ने हिस्सा लिया था। घटना के सिलसिले में कनॉट प्लेस थाने में एफआईआर दर्ज होने के बाद पुलिस ने उपाध्याय सहित छह लोगों को गिरफ्तार किया था। पांच अन्य आरोपियों की पहचान प्रीत सिंह, दीपक सिंह, दीपक कुमार, विनोद शर्मा और विनीत वाजपेयी के रूप में हुई है। आरोपियों को दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी के अलग-अलग हिस्सों से गिरफ्तार किया गया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button