उत्तर प्रदेश
Trending

Uttarpradesh: आफिस में घुसकर ड्रग्स लिपिक पर चाकू से हुआ हमला

Uttarpradesh: देवेंद्र कुशवाह: मऊ। खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन के लिपिक पर उसके कार्यालय पर एक युवक ने हमला कर दिया। घटना बुधवार की लगभग दो बजे की है। हमलावर द्वारा चाकू से हमलाा किये जाने से लिपिक के चेहरे से खून निकलने लगा। उसके बाद घायल लिपिक बाहर निकल कर कार्यालय का दरवाजा बन्द करते हुये डायल 112 पुलिस को घटना की सूचना देते हुये बुलाया।

इस दौरान कार्यालय के बाहर से ड्रग्स लिपिक ने स्वयं की पिटाई कर घायल किये जाने का विडियो बनाकर वायरल भी कर दिया। उधर सूचना पर कोतवाली पुलिस ने आरोपी हमलावर को बन्द कार्यालय से पकड़कर अपने साथ ले गयी। जहां लिपिक ने आरोपी के खिलाफ नामजद तहरीर दिये जाने पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया।

ड्रग्स लिपिक अनुपम राय सदर तहसील क्षेत्र के कोपागंज विकास खण्ड अन्तर्गत काछीकाला गांव निवासी हैं। वह कलेक्ट्रेट स्थित खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग में लिपिक के पद पर तैनात हैं। आरोपी राधेश्याम जनपद के ही दोहरीघाट ब्लाक क्षेत्र का बताया जा रहा है। इस बावत पीड़ित अनुपम राय ने बताया कि राधेश्याम चार साल पहले विभाग के एक ड्रग इंस्पेक्टर का व्यक्तिगत चालक का काम किया है।

विभागीय अधिकारी के चालक पद से हटाये जाने के बाद भी वह जिले की दवा की दुकानों पर खुद के ड्रग्स विभाग का होने की धौंस जमाकर अवैध वसूली किया करता है। पिछले दिनों घोसी व अमिला में उसके द्वारा दवा की दुकानों से अवैध वसूली किये जाने की शिकायत सामने आयी थी। लिपिक अनुपम राय ने बुधवार की दोपहर अपने कार्यालय में मौजूद थे।

उसी समय आरोपी राधेश्याम भी आ गया जिसे अनुपम राय ने विभाग का नाम बदनाम करने पर एतराज जताया जिस पर वह आगबबूला होकर हमलावर हो गया।उसने हमला कर लिपिक को बुरी तरह से घायल कर दिया जिससे चेहरे से खून टपकने लगा इस दौरान कार्यालय में कंप्यूटर आपरेटर व चपरासी मौजूद थे। इस दौरान किसी तरह से उससे बचकर बाहर निकल वह कार्यालय को बाहर से बन्द करते हुये पुलिस को इसकी सूचना दी तथा अपनी तहरीर में लिखा है

कि उक्त ब्यक्ति ने उसके गर्दन एवं चेहरे पर चाकू से प्रहार किया है,इस संबंध में कोतवाल ने बताया कि अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया गया है तथा तहरीर के आधार पर संबंधित धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया जाएगा। इधर लिपिक के ऊपर हुये हमले की सूचना कलेक्ट्रेट व विकास भवन के कार्यालय में पहुंच गयी जिससे लिपिक संवर्ग के कर्मचारियों में आक्रोश फैल गया। देर शाम तक लिपिक की पिटाई का मामला चर्चा का विषय बना रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button