विज्ञापन
छत्तीसगढ़

पुराने सिक्के बेचने से मिले 15 से 18 करोड रूपये के लालच में दिया गया था घटना को अंजाम

संवाददाता राजा कोष्टा जगदलपुर:- 09 आरोपी बस्तर पुलिस के गिरफ्त में, सभी आरोपी बस्तर जिले के निवासी है महानिरीक्षक एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र सिंह मीणा के नेतृत्व में बस्तर पुलिस द्वारा आपराधिक तत्वों के विरूद्ध लगातार कार्यवाही किया जा रहा है। इसी तारतम्य में बस्तर जिले में थाना बडांजी अन्तर्गत ग्राम घाटधनोरा मेें हुए डकैती के वारदात को सुलझाने में बस्तर पुलिस को बडी सफलता मिली है।

ज्ञात हो कि दिनांक 04 एवं 05 जून 2022 के दरमियानी रात ग्राम घाटधनोरा में कुछ अज्ञात व्यक्तियों के द्वारा प्राथी बलदेव बघेल के घर में घुसकर डकैती की घटना को अंजाम देकर 30,000/-रूपये एवं दो नग मोबाईल को लुट कर घटना को अंजाम दिया गया था। उक्त घटना पर प्रार्थी बलदेव बघेल के रिपोर्ट पर थाना बडांजी़ में डकैती का अपराध पंजीबद्ध कर अनुसंधान में लिया गया था।

विवेचना:-
प्रकरण में उप महानिरीक्षक एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र सिंह मीणा (भा.पु.से.) के नेतृत्व में, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ओमप्रकाश शर्मा के मार्गदर्शन में, एसडीओपी लोहण्डीगुडा पंकज ठाकुर एवं एसडीओपी भानपुरी घनश्याम कामडे के पर्यवेक्षण में स्मृतिक राजनाला (परि.भा.पु.से.) निरीक्षक तामेश्वर चैहान, राजेश मरई, धनंजय सिन्हा, एमन साहू एवं उप निरीक्षक अरूण नामदेव के नेतृत्व में टीम गठित कर माल-मुलजिम की पता तलाश की जा रही थी।

दौरान अनुसंधान के छत्तीसगढ़ एवं उडीसा के संदिग्ध व्यक्तियों पर निगाह रखी जा रही थी एवं क्षेत्र के लोगों के गतिविधियों पर भी निगाह रखा जा रहा था। दौरान पतासाजी के घटनास्थल एवं आसपास के क्षेत्रो से प्राप्त तकनीकी साक्ष्यों के आधार पर संदेही दीगम कश्यप निवासी तालुर, वासुदेव ठाकुर निवासी कुदालगांव की पहचान की गई ।

जिसकी धरपकड हेतु टीम रवाना कर ग्राम तालुर एवं कुदालगांव से दीगम कश्यप एवं वासुदेव ठाकुर को पकडा गया जिनसे पूछताछ करने पर उनके द्वारा कुछ अन्य आरोपियों के साथ मिलकर योजनाबद्ध तरीके से ग्राम घाटधनोरा में डकैती की वारदात को कारित करना स्वीकार किया एवं अन्य आरोपियों लखमु कश्यप, रामेश्वर पाण्डेय, लेबोराम भारती, राजेश बघेल, धनुर्जय बघेल, लक्खुराम कश्यप, सुखराम ठाकुर के साथ घटना को अंजाम देना स्वीकार किये।

कि आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु निरीक्षक तामेश्वर चैहान, राजेश मरई, धनंजय सिन्हा, एमन साहू, सुरित सारथी एवं उप निरीक्षक अरूण नामदेव के नेतृत्व में टीम गठित कर रवाना किया गया था। उक्त टीम के द्वारा ग्राम कुदालगांव, तालुर, टाकरागुडा, सालेमेटा, दुबेउमरगांव, देउरगांव और इच्छापुर एवं आसपास के क्षेत्रों में संदेहियो की पहचान कर आरोपी लखमु कश्यप, रामेश्वर पाण्डेय, लेबोराम भारती, राजेश बघेल, धनुर्जय बघेल, लक्खुराम कश्यप, सुखराम ठाकुर सभी निवासी जिला बस्तर को पकडा गया।

जिनसे पूछताछ करने पर सभी ने दिनांक 04 एवं 05 जून 2022 के दरमियानी रात को घाटधनोरा में बलदेव बघेल के घर में डकैती की घटना को योजनाबद्ध तरीके से अंजाम देकर घर के संदुक में रखे 30,000/-रूपये और 02 मोबाईल को डकैती डालकर घटना कारित करना स्वीकार किया गया है। मामले के कुछ अन्य संदेही भी संभावित है। जो अन्य राज्य से संबंधित है।

तरीका वारदात:-
आरोपी धनुर्जय बघेल निवासी सालेमेटा को पता चला था कि मामले के प्रार्थी बलदेव बघेल के पास पुराना सिक्का बेचने से करोड़ों रूपये की नगदी राशि रखा है जिसे वह अपने घर में गाड कर रखा है। उक्त बात धनुर्जय ने मामले के मुख्य आरोपी दीगम कश्यप निवासी ग्राम तालुर को बताया जिस पर दीगम कश्यप के द्वारा लूट की घटना को अंजाम देने की नियत से अन्य आरोपियो लखमु कश्यप, रामेश्वर पाण्डेय, लेबोराम भारती, वासुदेव ठाकुर, राजेश बघेल, धनुर्जय बघेल, लख्खुराम कश्यप, सुखराम ठाकुर एवं उडीसा के कुछ व्यक्तियो के साथ मिलकर बलदेव बघेल के घर में लूट की घटना को अंजाम देने की योजना बनाया गया।

योजना के अनुरूप दिनांक 04.06.2022 को सभी आरेापी 02, चार पहिया वाहन एवं 04, मोटर सायकल से रात करीब 12ः00 बजे ग्राम टाकरागुडा में इकठ्ठा हुए एवं बलदेव के घर में पहुॅचकर घर की घेराबंदी कर घर के संदुक में रखे 30,000/-रूपये नगद और 02 मोबाईल को डकैती डालकर घटना को अंजाम देकर फरार हो जाना बताया गया। एवं डकैती से प्राप्त राशि को आपस में बांट लिया गया मामले में आरोपियों के द्वारा डकैती का अपराध घटित करना पाये जाने से आरोपियों के कब्जे से डकैती की राशि 5,300/- बरामद किया गया है। मामले में सभी 09 आरोपियों को थाना बडांजी द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है।

बरामद सम्पत्ति:-
राशि:- 5,300/-रूपये नगद
मोबाईल:- 08 नग घटना में प्रयुक्त
चार पहिया वाहन:- 02 नग (घटना में प्रयुक्त)
1. रेनाल्ड ट्राईबर सीजी-17-केडब्लु-7773,
2. बोलेरो प्लस क्रमांक सीजी-17-केएल-9423)
मोटर सायकल:- 04 नग, (घटना में प्रयुक्त)
1. हीरो सीडी डिलक्स सीजी-17-केएच-9563,
2. बजाज पल्सर क्रमांक सीजी-17-केई-3083,
3. हीरो सुपर स्पलेंडर क्रमांक सीजी-17-केआर-9996,
4. हीरो मोटर सायकल क्रमांक सीजी-17-केएन-0834
घटना में प्रयुक्त बांस के डंडे

नाम आरोपी:-

  1. लखमु कश्यप पिता रामचंद कश्यप उम्र 28 वर्ष निवासी देउरगांव सौरापारा जिला बस्तर (छ.ग.)
  2. रामेश्वर पाण्डेय पिता उदित नारायण पाण्डेय उम्र 44 वर्ष निवासी दुबे उमरगांव जिला बस्तर (छ.ग.)
  3. लेबोराम भारती पिता स्व. रामदास भारती, उम्र 31 वर्ष निवासी इच्छापुर गोपाल जिला बस्तर (छ.ग.)
  4. वासुदेव ठाकुर पिता लक्ष्मण ठाकुर उम्र 28 वर्ष निवासी कुदालगांव खासपारा थाना कोतवाली जिला बस्तर (छ.ग.)
  5. दीगम कश्यप पिता चैतुराम कश्यप उम्र 33 निवासी तालुर पटेलपारा जिला बस्तर (छ.ग.)
  6. राजेश बघेल पिता शंकर बघेल उम्र 35 साल निवसी टाकरागुडा ठोठापारा जिला बस्तर (छ.ग.)
  7. धनुर्जय बघेल पिता कमलोचन बघेल उम्र 32 वर्ष निवासी सालेमेटा मांझीपारा जिला बस्तर (छ.ग.)
  8. लक्खुराम कश्यप पिता लच्छुराम कश्यप उम्र 34 वर्ष ग्राम गुपनी दुबे उमरगांव जिला बस्तर (छ.ग.)
  9. सुखराम ठाकुर पिता सोनाधर ठाकुर उम्र 39 वर्ष निवासी दुबे उमरगांव जिला बस्तर (छ.ग.)

महत्वपूर्ण भूमिका अदा करने वाले अधिकारी:-
राजपत्रित अधिकारी- स्मृतिक राजनाला (परि. भा.पु.से.), पंकज ठाकुर, घनश्याम कामड़े।
निरीक्षक – तामेश्वर चैहान, राजेश मरई, धनंजय सिन्हा, एमन साहू, सुरित सारथी, केसरीनंदन साहू।
उप निरी. – अरूण नामदेव, अमित सिदार, विष्णु यादव, कृष्ण साहू, प्रमोद ठाकुर, रनेश सेठिया।
सउनि. – धर्नुधारी सिंह, सुमन ठाकुर, सतीश युदराज, इंदु शर्मा
प्र.आर. – देवचरण नाग, चितुराम मौर्य, उमेश चंदेल, लवण पानीग्राही, किशोर गुप्ता, मौसम गुप्ता, मिथुन सुल्तान, सुनील मनहर, चंदन गोयल।
आरक्षक – रवि कुमार भीसम सिंह ठाकुर, प्रदीप शुक्ला, गौतम सिन्हा, प्रकाश नायक, भुवन शार्दुल, कोमल कतलम, गोबरू कश्यप

Show More

Related Articles

Back to top button