Advertisement
प्रदेशबिहार
Trending

भाजपा विधायक Rashmi Verma का नाम लेकर उनके आदमियों द्वारा धमकी देने के मामले में संस्कृत विद्यालय के प्रधानाध्यापक ने दो लोगों पर FIR दर्ज करवाई

बिहार के पश्चिम चंपारण जिला अंतर्गत नरकटियागंज सीट से भाजपा विधायक रश्मि वर्मा (Rashmi Verma) एक बार फिर से सुर्खियों में हैं. बताया जा रहा है कि विधायक का नाम लेकर उनके आदमियों द्वारा धमकी देने के मामले में संस्कृत विद्यालय के प्रधानाध्यापक ने दो लोगों पर प्राथमिकी दर्ज करवाई है. अभी कुछ दिनों पहले जमीन विवाद को लेकर दो पक्षों द्वारा अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी. वहीं विधायक के नाम पर महाविद्यालय के प्राचार्य को कभी वरीय अधिकारियों का भय दिखाया जा रहा है तो कभी शहर में घुसने नहीं देने की धमकी दी जा रही है. मामले में स्थानीय नगर के ब्लॉक रोड स्थित जानकी संस्कृत उपशास्त्री महाविद्यालय के प्राचार्य सीतांशु कुमार ने शिकारपुर थाने में एफआईआर दर्ज कराया है

प्राचार्य सीतांशु कुमार ने आवेदन में बताया कि उनके मोबाइल पर एक अज्ञात नंबर से कॉल आया था. फोन पर उनसे कहा गया कि जिलाधिकारी कार्यालय से नरेंद्र बोल रहा हूं. महाविद्यालय से संबंधित सभी कार्य माननीय विधायक रश्मि वर्मा जी के अनुरूप ही करें. साथ ही यह भी कहा गया कि अनुमंडल पदाधिकारी नरकटियागंज का टास्क फोर्स आप को खोज रहा है. इसके बाद प्राचार्य ने इस संबंध में अनुमंडल पदाधिकारी से संपर्क किया, तो पता चला कि ऐसी कोई बात नहीं है

उसके बाद फिर 23 सितंबर को दूसरे नंबर से रात करीब 8:30 बजे कॉल आया, जिसमें व्यक्ति ने अपना नाम संजय सारंगपुरी बताया और बोला कि मैं विधायक रश्मि वर्मा का आदमी हूं. महाविद्यालय में मैं और विधायक जो चाहेंगे वही होगा. अगर ऐसा नहीं करोगे, तो महाविद्यालय में ताला बंद कर देंगे और तुम्हें नरकटियागंज शहर में घुसने नहीं देंगे. इस कड़ी में स्थानीय प्रशासन के संबंध में भी अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए कहा गया कि शहर में आपको कोई नहीं बचा पाएगा. अनुमंडल पदाधिकारी का स्थानांतरण भी हम लोगों के द्वारा ही करवाया गया

प्राचार्य ने बताया कि उक्त व्यक्ति द्वारा महाविद्यालय के शासी निकाय के गठन के लिए गैर कानूनी कार्य करने के लिए बार-बार दबाव डाला जाता है. दिलीप कुमार तिवारी उर्फ दिलावर तिवारी द्वारा भी स्थानीय विधायक रश्मि वर्मा के समक्ष अनुमंडल कार्यालय में बैठक के दिन धमकी दी गई थी. कहा गया था कि विधायक जो कह रही हैं, वह होना चाहिए, नहीं तो परिणाम अच्छा नहीं होगा. आपको महाविद्यालय क्या शहर में भी घुसने नहीं देंगे. वहीं इस पूरे मामले में नरकटियागंज से बीजेपी विधायक रश्मि वर्मा ने कहा कि जिन लोगों पर प्रधानाचार्य ने एफआईआर दर्ज हुआ है, उन दोनों को मैं जानती हूं. अगर प्रिंसिपल काम नहीं करेंगे तो उनके लिए कोई भी आवाज उठा सकता है. यह सबका अधिकार है. अगर कोई काम नहीं करेगा और गलत काम करेगा तो वह नरकटियागंज छोड़कर चला जाए. उसे किसी भी कीमत पर हम रहने नहीं देंगे

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button
Salect language