उत्तर प्रदेश

Uttarpradesh News: डीएम कमिश्नर का फर्जी स्टोनो बनकर प्रधान पति से रिश्वत मांगने और दो जिला पंचायत सदस्यों को धमकाने वाला आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ा

Uttarpradesh News: कोपागंज (मऊ): डीएम और कमीश्नर का फर्जी स्टेनो बनकर प्रधानपति और दो जिला पंचायत सदस्यों को धमकाने वाले आरोपी को पुलिस ने शुक्रवार को मुखबिर की सूचना पर गिरफ्तार करने के बाद कोपागंज पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए आरोपी को जेल भेज दिया। बलिया जनपद रसड़ा के एक गांव के रहने वाले चंदन उर्फ चांदनी पुत्र गुलाब ने पिछले महीने मई में भी बलिया जनपद के एक चिकित्सक को धमकाने और मोबाइल पर बदतमीजी करने के आरोप में भी बलिया जनपद के उभार थाना में मुकदमा दर्ज है।

कोपागंज के दो जिला पंचायत सदस्यों को गाली गलौज और धमकाने और गाली-गलौज करने और प्रधान से रिश्वत मांगने के आरोप में जिला पंचायत सदस्य जितेंद्र गोयल और प्रधान पति बच्चे लाल राजभर के अलग-अलग तहरीर हुए मुकदमा दर्ज होने के बाद से ही इस जालसाज की गिरफ्तारी के लिए एस ओ जी, स्वाट टीम और कोपागंज पुलिस हाथ धोकर पीछे पड़े हुई थी।

बताया जाता है कि बीते 31 जुलाई को कमिश्नर का स्टोनो बताकर लैरोदोनवार के प्रधान पति बच्चे लाल राजभर को फोन कर रास्ते निर्माण का विवाद हल कराने के लिए आदेश दिलाए जाने का बात कहीं। इसके एवज में जालसाज ने प्रधानपति से 25000 की रिश्वत मांगी थी। जिस मोबाइल नम्बर से प्रधान पति से बात की गई ट्रूकॉलर व विनोद यादव डीजीपी बिहार दर्शा रहा था जबकि इसी जालसाज ने दूसरे दिन रास्ते के निर्माण के संबंध में दूसरे दिन पुनः दुसरे नम्बर से फोन किया और खुद को डीएम का स्टोनो बात कर रास्ते का निर्माण के आदेश होने और कमिश्नर के स्टेशनों को उपलब्ध कराए गए बैंक खाते में रिश्वत की रकम भेजने की बात कही गई।

जालसाज द्वारा प्रधान पति पर जिस मोबाइल नंबर से बात की गई, ट्रूकॉलर पर खाद्य मंत्री दर्शा रहा था। हालांकि प्रधान पति भी डीएमके इस स्टोन ओ की बात हजम नहीं हुई और इसकी जानकारी जिला पंचायत सदस्य जितेंद्र गोयल से कहीं। जब जितेन्द्र गोयल ने प्रधानपति द्वारा जालसाज द्वारा उपलब्ध कराए गए मोबाइल नम्बर से बात की तो जालसाज ने जिला पंचायत सदस्य को धमकाते हुए गाली गलौज पर उतर आया।

और डीएम आफिस बुलाकर लाठियों से पिटवाने की धमकीं तक दे डाली। जब इस बात की जानकारी कोपागंज ब्लाक के एक अन्य जिला पंचायत सदस्य अखिलेश राजभर को हुई तो उन्होंने भी जालसाज के मोबाइल पर नंबर बात करते हुए उसके बारे में जानकारी करने की कोशिश की गई। लेकिन जालसाज ने अमर्यादित भाषा का प्रयोग करते हुए अपमानित करने लगा। जिसके बाद दोनों जिला पंचायत का एक प्रतिनिधिमंडल डीएम एसपी से मिला और पूरे मामले को अवगत कराते हुए आरोपी को गिरफ्तारी की मांग की।

तब जाकर एसपी के आदेश पर उक्त फर्जी स्टेनो पर मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी करने का आदेश दिया। जिसके बाद सर्विलांस की मदद से कोपागंज थानाध्यक्ष/स्वाट टीम इंचार्ज अमित मिश्रा व एसओजी ने मुखबिर की सूचना पर आरोपी को बाइक के साथ शुक्रवार को अदरी मोड़ से धर दबोचा। जब उसकी तालाशी ली नो मोबाइल 12 सिम भी बरामद किए गए । पुलिस ने आरोपी को जेल भेज दिया

Show More

Support Us!

‘प्रबुद्ध जनता समाचार’ जनवादी पत्रकारिता करता है, यह संविधान, लोकतंत्र और सामाजिक न्याय पर चलने वाला एक डिजिटल मीडिया है जो आपके लिए लेकर आता है तत्काल की लेटेस्ट खबरे, विचार, कहानियाँ और इसे हम तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग और लेखन के लिए हमारा सहयोग करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button