विज्ञापन
प्रदेश
Trending

टेरर फंडिंग मामले में आतंकी Yasin Malik को उम्र कैद की सजा

नई दिल्ली,  टेरर फंडिंग मामले (Terror Funding Case) में दोषी आंतकी यासीन मलिक (Yasin Malik) को एनआइए की विशेष अदालत (NIA Special Court) ने उम्रकैद की सजा सुनाई है। साथ ही 10 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है।  यासीन द्वारा अपने खिलाफ लगाए गए सभी आरोप स्वीकार करने के बाद एनआइए के स्पेशल कोर्ट ने उसे दोषी ठहराया। हुर्रियत नेता और प्रतिबंधित संगठन जम्मू एवं कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (JKLF) के प्रमुख को 2017 के आतंकी फंडिंग मामले में अदालत ने गुरुवार को दोषी ठहराया था। वहीं, यासीन मलिक को लेकर सुरक्षा एजेंसियों को अलर्ट जारी हुआ है। यासीन को दिल्ली की तिहाड़ जेल भेज दिया गया।

अधिवक्ता उमेश शर्मा ने बताया कि यासीन मलिक को दो बार उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। उसे 9 मामलों में सजा सुनाई गई है।

  • UAPA की धारा- 13 के तहत पांच साल।
  • UAPA की धारा-15 और 16 (आतंकवादी अधिनियम) के तहत दस साल की सजा।
  • UAPA की धारा-18 (आतंकवादी कृत्य करने की साजिश) के तहत दस साल की सजा और दस हजार का जुर्माना।
  • UAPA की धारा-20 (आतंकवादी गिरोह या संगठन का सदस्य होना) के तहत दस साल की सजा और दस हजार का जुर्माना।
  • UAPA की धारा-38 और 39 के तहत पांच साल की सजा व पांच साल का जुर्माना।
  • IPC की धारा-120B (आपराधिक साजिश) के तहत दस साल की सजा और दस हजार का जुर्माना।
  • IPC की धारा-121A (राष्ट्र के विरुद्ध युद्धोन्माद फैलाना) के तहत दस साल की सजा व दस हजार का जुर्माना।
  • IPC की धारा 121A (देशद्रोह) के तहत दस साल की सजा
Show More

Related Articles

Back to top button