खेल
Trending

U-19 World Cup 2022 के लिए टीम इंडिया का ऐलान, यश ढुल होंगे कप्तान

Advertisement
Advertisement

अंडर-19 वर्ल्ड कप 2022 (U-19 World Cup) के लिए भारतीय टीम का ऐलान कर दिया गया है. बीसीसीआई की जूनियर सेलेक्शन कमेटी ने यश ढुल की कप्तानी में 17 सदस्यों वाले स्क्वॉड का ऐलान किया है. चार बार का चैंपियन भारत अपने पांचवें खिताब के लिए दावेदारी ठोकेगा. टूर्नामेंट की शुरुआत 14 जनवरी से वेस्टइंडीज में होगी. भारत का पहला मुकाबला 15 जनवरी को साउथ अफ्रीका के खिलाफ होगा. भारत ने 2018 में पृथ्वी शॉ की कप्तानी में अपना पिछला खिताब जीता था. उसके बाद 2020 में प्रियम गर्ग की कप्तानी में टीम इंडिया फाइनल में पहुंची थी, जहां उसे बांग्लादेश से हार का सामना करना पड़ा.

बीसीसीआई ने रविवार 19 दिसंबर को भारतीय टीम का ऐलान किया. टीम की कमान दिल्ली के यश ढुल के हाथों में है. उनसे पहले दिल्ली के ही विराट कोहली और उन्मुक्त चंद भी अंडर-19 विश्व कप में भारत की कप्तानी कर चुके हैं. उन दोनों की कप्तानी में भारत ने खिताब जीता था. ऐसे में ढुल भी उसी विरासत को आगे बढ़ाना चाहेंगे. ढुल समेत पूरी भारतीय टीम फिलहाल बेंगलुरू में नेशनल क्रिकेट एकेडमी में ट्रेनिंग कैंप में हिस्सा ले रही है. विश्व कप से पहले टीम यूएई में एशिया कप में हिस्सा लेगी

U-19 World Cup 2022 के लिए भारतीय टीम

विश्व कप के लिए चुनी गई टीम में 17 खिलाड़ियों को शामिल किया गया है. वहीं पांच खिलाड़ियों को स्टैंडबाई के तौर पर शामिल किया गया है. एसके रशीद टीम के उपकप्तान होंगे.

यश ढुल (कप्तान), हरनूर सिंह, अंगकृष रघुवंशी, एसके रशीद (उपकप्तान), निशांत सिंधु, सिद्धार्थ यादव, अनीश्वर गौतम, दिनेश बाना (विकेटकीपर), आराध्य यादव (विकेटकीपर), राज अंगद बावा, मानव पारख, कौशल तांबे, आरएस हंगरगेकर, वासु वत्स, विकी ओस्टवाल, रविकुमार, गर्व सांगवान.

स्टैंडबाई खिलाड़ी- रिषित रेड्डी, उदय सहारन, अंश गोसाई, अमृत राज उपाध्याय, पीएम सिंह राठौड़

ग्रुप-बी में भारतीय टीम

16 टीमों वाले इस टूर्नामेंट में चार ग्रुप हैं और भारत को ग्रुप-बी में रखा गया है. भारत के अलावा इस ग्रुप में साउथ अफ्रीका, आयरलैंड और युगांडा शामिल हैं. हर ग्रुप से दो-दो टीमें सुपर लीग स्टेज में पहुंचकर खिताब के लिए दावेदारी ठोकेंगी. भारत का पहला मैच साउथ अफ्रीका से 15 जनवरी को है. टीम का दूसरा मैच 19 जनवरी को आयरलैंड और 22 जनवरी को आखिरी ग्रुप मैच युगांडा के साथ है.

पांचवें खिताब के लिए दावेदारी

भारत इस टूर्नामेंट के इतिहास की सबसे सफल टीम है. 1988 में शुरू हुए इस टूर्नामेंट में भारत ने सबसे ज्यादा 4 बार खिताब जीता है. पहली बार टीम इंडिया को 2000 में मोहम्मद कैफ की कप्तानी में सफलता मिली थी. इसके बाद 2008 में विराट कोहली, 2012 में उन्मुक्त चंद और 2018 में पृथ्वी शॉ ने खिताब जिताया था. 2016 और 2020 में भारतीय टीम उपविजेता रही थी. अब पांचवें खिताब के लिए जोर-आजमाइश होगी

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button