राष्ट्रीय
Trending

दो महीने से लापता गोरखपुर की नाबालिग लड़की के केस में बोला Supreme court, UP पुलिस कल तक दिल्ली पुलिस को सौंपे जांच रिकॉर्ड

दो महीने से लापता उत्तर प्रदेश के गोरखपुर की नाबालिग लड़की (Gorakhpur Minor Girl Kidnap Case) के अपहरण मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में आज सुनवाई हुई. मामले में कोर्ट ने उत्तर प्रदेश पुलिस ( Uttar Pradesh Police) को फटकार लगाई है. सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश पुलिस को जांच का रिकॉर्ड दिल्ली पुलिस (Delhi Police) को कल (गुरुवार) तक सौंपने को कहा है.

बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने गोरखपुर की 13 साल की नाबालिग लड़की के अपहरण मामले में सुनवाई की.  मामले में जस्टिस एएम खानविलकर, हृषिकेश रॉय और सीटी रविकुमार की पीठ ने फैसला सुनाया. सुनावई के दौरान यूपी सरकार के वकील ने कहा कि राज्य पुलिस सख्त कदम उठा रही है और अंतर-राज्यीय (Inter State) प्रभाव के कारण जांच की गति प्रभावित हुई है.

UP पुलिस मामले की जांच मालवीयनगर पुलिस को सौंपें: सुप्रीम कोर्ट

वहीं कोर्ट ने मामले की जांच में देरी के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस को फटकार लगाई है. इसके साथ दिल्ली पुलिस कमिश्नर (Delhi Police Commissioner) को जांच की निगरानी करने का भी निर्देश दिया गया है. इसके साथ कोर्ट ने उत्तर प्रदेश पुलिस को मामले की जांच दिल्ली की मालवीयनगर पुलिस (Malviya Nagar Police) को गुरुवार तक सौंपने को कहा है.

लापता लड़की की मां ने सुप्रीम कोर्ट दाखिल की थी याचिका

दरअसल गोरखपुर की 13 साल की लापता लड़की की मां ने सुप्रीम कोर्ट में बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका (Habeas Corpus Petition) दाखिल की थी. याचिका में एक दिल्ली निवासी पर अपहरणकर्ता होने का शक जताया गया है. याचिकाकर्ता ने आरोप लगाया कि लड़की के लापता होने के तुरंत बाद गोरखपुर पुलिस के समक्ष शिकायत की गई थी. 

गोरखपुर पुलिस ने नहीं लिया तुरंत एक्शन

याचिका में आगे कहा गया कि शिकायत दर्ज करवाने के बाद भी गोरखपुर पुलिस ने  कोई त्वरित कदम नहीं उठाया.  जिसके बाद याचिका पर आज सुनवाई हुई. सुप्रीम कोर्ट ने मामले में दिल्ली पुलिस कमिश्नर को जांच की निगरानी करने का भी निर्देश दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button