महाराष्ट्र
Trending

Devendra Fadnavis की गाड़ी पर फेंकी गई चप्पल, पुणे से सटे पिंपरी में BJP-NCP कार्यकर्ता आमने-सामने

पुणे से सटे पिंपरी-चिंचवड इलाके में रविवार को बीजेपी-एनसीपी कार्यकर्ता आमने-सामने भिड़ गए. बीजेपी कार्यकर्ताओं की ओर से ‘मोदी-मोदी’ का नारा दिया जा रहा था तो दूसरी तरफ एनसीपी कार्यकर्ता ‘मोदी चोर है’ कह कर चिल्ला रहे थे. इस बीच एक अनजान शख्स के द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री और विधानसभा में विपक्षी नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) की कार पर चप्पल फेंका गया.

रविवार को फडणवीस पिंपरी चिंचवड के दौरे पर थे. इसी दौरान बीजेपी और एनसीपी कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई और वे एक-दूसरे से भिड़ गए. इस उपद्रव को शांत करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा. इसमें एनसीपी की कॉरपोरेटर जख्मी हो गई

फडणवीस विकास के कामों का उद्घाटन करने के लिए पिंपरी-चिंचवड आए थे. इस वक्त बीजेपी और एनसीपी कार्यकर्ता एक-दूसरे के सामने आ गए. फडणवीस का विरोध करने के लिए एनसीपी कार्यकर्ता जोरदार नारेबाजी करने लगे. इसी बीच देवेंद्र फडणवीस की गाड़ी की ओर एक अनजान शख्स ने चप्पल फेंकी. वो शख्स कौन था, उसके द्वारा चप्पल फेंके जाने की वजह क्या थी,

यह पुलिस द्वारा पता लगाया जा रहा है. यह घटना तब हुई जब फडणवीस अटल बिहारी वाजपेयी गार्डन में एंट्री कर रहे थे. इस पूरी घटना पर जब देवेंद्र फडणवीस से प्रतिक्रिया देने को कहा गया तो उन्होंने कहा कि ये लोग कौन थे, मुझे मालूम नहीं. पालतू चिल्लर लोग होंगे. इन शब्दों में फडणवीस ने चप्पल फेंकने वाले को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी

देवेंद्र फडणवीस ने आगे कहा, ‘कोई काले-पीले नीले झंडे दिखाए, तो दिखाने दें. जनता देख रही है. वे सिर्फ अपना अस्तित्व दिखाने के लिए ऐसा कर रहे हैं. कोई अच्छा काम कर के नाम कमाएं. लेकिन इन्हें काम नहीं करना है. दूसरों के सामने प्रदर्शन करना करना है. ईश्वर उन्हें सद्बुद्धि दे. कांग्रेस और एनसीपी ने अण्णा साहेब पाटील और अटल बिहारी वाजपेयी के नाम के गार्डन के सामने आंदोलन करने का फैसला किया है. मुझे इनकी बुद्धि पर तरस आता है. यह दुर्भाग्यपूर्ण है

देवेंद्र फडणवीस ने कहा, ‘खुद तो कुछ करना नहीं है. उनके शासनकाल में कुछ हुआ नहीं. हमारा मेयर, नगरसेवक, पदाधिकारियों ने अच्छा काम करके दिखाया. इस वजह से उनके मन में इस बात की कुंठा है. मुझे इस बात का दुख होता है कि जो अण्णा साहेब पाटील ने मराठा आरक्षण के लिए अपनी जान तक दे दी, उनकी प्रतिमा के उद्घाटन के काम का विरोध किया जा रहा है

और अटल जी के विरोध का काम हो रहा है, तो ऐसे लोगों की बुद्धि की जांच होनी जरूरी है. फडणवीस ने यह भी कहा, ‘ राज्य की इस सरकार को महाविकास आघाडी सरकार कहा जाए या महावसूली सरकार कहा जाए, समझ नहीं आता. मेट्रो का श्रेय कई लोग ले रहे हैं. लेकिन मेट्रो का सारा श्रेय पीएम मोदी का है. अब ये वॉर्ड की रचना में फेरबदल कर रहे हैं. जो बदलना है, बदलिए. हमें फर्क नहीं पड़ने वाला है. जनता के विश्वास के दम पर पुणे और पिंपरी-चिंचवड महानगरपालिका में फिर कमल खिलेगा

Back to top button