कारोबार

Share market में हरियाली बरकरार, सेंसेक्स 284 अंक ऊपर, निफ्टी 16600 के पार पहुंचा

आज लगातार पांचवें कारोबारी सत्र में बाजार (Share market) में तेजी रही. सेंसेक्स 284 अंकों के उछाल के साथ 55681 के स्तर पर और निफ्टी 84 अंकों की तेजी के साथ 16605 के स्तर पर बंद हुआ. आज की तेजी में PSU बैंक, प्राइवेट बैंक निफ्टी का सबसे ज्यादा योगदान रहा. एफएमसीजी और आईटी इंडेक्स में भी तेजी रही. सेंसेक्स के टॉप-30 में 24 शेयर तेजी के साथ और 6 शेयर गिरावट के साथ बंद हुए.

इंडसइंड बैंक, बजाज फाइनेंशियल सर्विसेज, बजाज फाइनेंस और एशियन पेंट्स के शेयरों में तेजी रही. डॉ रेड्डी, कोटक महिंद्रा बैंक और रिलायंस के शेयरों में गिरावट दर्ज की गई. इन पांच कारोबारी सत्रों में सेंसेक्स में 2200 अंकों से अधिक का उछाल आया है. बाजार में जारी तेजी के बीच आज रुपए में मजबूती आई. यह 12 पैसे की तेजी के साथ 79.93 के स्तर पर बंद हुआ

बाजार की तेजी को लेकर कोटक सिक्यॉरिटीज के इक्विटी रिसर्च प्रमुख श्रीकांत चौहान ने कहा कि विदेशी निवेशक पिछले कुछ कारोबारी सत्रों से लगातार लिवाली कर रहे हैं. इसके अलावा कमोडिटी की कीमत सुस्त पड़ रही है. माना जा रहा है कि अमेरिकी फेडरल रिजर्व उतना अग्रेसिव होकर इंट्रेस्ट रेट में बढ़ोतरी नहीं करेगा. इन तमाम फैक्टर्स का बाजार के सेंटिमेंट पर सकारात्मक असर हुआ है.

टेक्निकल आधार पर निफ्टी ने बुलिश शुरुआत की है. ट्रेडिंग के लिहाज से निफ्टी के लिए 16500 पर एक सपोर्ट है. निफ्टी अब 16700-16750 की तरफ रुख करेगा. शॉर्ट टर्म में बाजार में करेक्शन की संभावना से भी इनकार नहीं किया जा सकता है. अगर करेक्शन के कारण निफ्टी 16500 के नीचे फिसलता है तो इसमें 16450-16420 के स्तर तक गिरावट दर्ज की जा सकती है

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के चीफ इन्वेस्टमेंट स्ट्रैटिजीस्ट वीके विजय कुमार ने कहा कि जून के न्यूनतम स्तर से बाजार में 8.5 फीसदी की तेजी आ चुकी है. यूरोपियन सेंट्रल बैंक, अमेरिकी फेडरल रिजर्व मॉनिटरी पॉलिसी को लेकर क्या फैसला लेता है, इस पर निफ्टी का आगे का मूवमेंट तय होगा. बाजार का अनुमान है कि यूरोपियन सेंट्रल बैंक इंट्रेस्ट रेट में 50 बेसिस प्वाइंट्स की और अमेरिकी फेडरल रिजर्व 75 बेसिस प्वाइंट्स की बढ़ोतरी कर सकता है. इंट्रेस्ट रेट से ज्यादा महत्वपूर्ण यह होगा को दोनों बैंकों की तरफ से महंगाई और ग्रोथ को लेकर क्या संभावना जताई जाती है. अगर महंगाई की चिंता बरकरार रहती है तो बाजार में फिर से गिरावट आएगी

Show More

Support Us!

‘प्रबुद्ध जनता समाचार’ जनवादी पत्रकारिता करता है, यह संविधान, लोकतंत्र और सामाजिक न्याय पर चलने वाला एक डिजिटल मीडिया है जो आपके लिए लेकर आता है तत्काल की लेटेस्ट खबरे, विचार, कहानियाँ और इसे हम तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग और लेखन के लिए हमारा सहयोग करें।

Related Articles

Back to top button