विज्ञापन
अंतर्राष्ट्रीय
Trending

मारियूपोल में रूसी सेना का Maternity Hospital पर हमला

रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध अब विस्फोटक रूप ले चुका है. रूस की तरफ से लगातार दावा जरूर हो रहा है कि वो किसी भी रिहायशी इलाके पर हमला नहीं करेगा, किसी अस्पताल को भी अपना निशाना नहीं बनाएगा. लेकिन जमीन पर स्थिति इसके उलट देखने को मिल रही है. अब यूक्रेन के मारियूपोल में एक Maternity Hospital पर हमला किया गया है. ये स्ट्राइक रूसी सेना द्वारा की गई है.

कहा जा रहा है कि इस हमले की वजह से कई बच्चे मलबे में दब गए हैं. अस्पताल को भी भारी नुकसान पहुंचा है. राष्ट्रपति जेलेंस्की ने इस घटना पर ट्वीट कर लिखा है कि इस मलबे के नीचे कुछ बच्चे हैं. ये हमला नहीं क्रूरता है. जेलेंस्की इस हमले से इतना आहत हो गए हैं कि उन्होंने पूरी दुनिया पर अपना गुस्सा निकाला है

उन्होंने आगे लिखा है कि दुनिया कब तक इस आतंक को नजरअंदाज करेगी, कब तक वो इसके खिलाफ चुप्पी साधेगी. इस क्रूरता को तुरंत रोका जाए. अब इससे पहले भी रूसी सेना की तरफ से रिहायशी इलाकों में हमला हुआ है. अस्पताल से लेकर मार्केट तक, कई जगह रूसी सेना की तरफ से बमबारी होती दिख गई है. हर बार यूक्रेन के राष्ट्रपति ने ये बोला है कि रूस की सेना इस समय आम लोगों को अपना निशाना बना रही है.

वैसे आज गुरुवार को यूक्रेन के राष्ट्रपति ने कड़े तेवर दिखाते हुए साफ कह दिया कि रूसी सेना को यूक्रेन की धरती छोड़नी होगी. यूक्रेन के सैनिक अंतिम सांस तक ये युद्ध लड़ने वाले हैं. इस कड़े तेवर के अलावा उनकी तरफ से बातचीत का ऑफर भी दिया गया. उन्होंने कहा कि वे अब शांति चाहते हैं. वे एक बार फिर रूस से बात करने को तैयार हैं

इस सब के अलावा जेलेंस्की ने यहां तक कह दिया है कि अब वे नेटो में शामिल होने पर ज्यादा जोर नहीं दे रहे हैं. उनके इस बयान ने ही अटकलों के बाजार को गर्म कर दिया था. कहा जाने लगा था कि अब ये युद्ध जल्द समाप्त हो जाएगा. लेकिन अभी के लिए ये सबकुछ सिर्फ बयानों तक सीमित है और जमीन पर ज्यादा प्रगित होती नहीं दिख रही

Show More

Related Articles

Back to top button