कारोबार
Trending

महंगाई के बीच RBI का फैसला, रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं

RBI Monetary Policy: रिजर्व बैंक ने आज वित्त वर्ष 2022-23 की पहली क्रेडिट पॉलिसी जारी कर दी है और इसमें आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा है कि जियो पॉलिटिकल तनावों का असर कई अर्थव्यवस्थाओं पर आ रहा है. भारत के ऊपर भी रूस-यूक्रेन युद्ध का असर आ सकता है और हमारे आर्थिक विकास पर निगेटिव असर आ सकता है, लिहाजा भारत के लिए ये चुनौतीपूर्ण समय है.

रिजर्व बैंक ने आज अपनी मौद्रिक नीति समीक्षा में नीतिगत दरों में कोई बदलाव नहीं किया है और रेपो रेट को 4 फीसदी पर बरकरार रखा है. इसके अलावा रिवर्स रेपो रेट को 40 बेसिस पॉइंट बढ़ाकर 3.75 फीसदी कर दिया है. इसके अलावा कैश रिजर्व रेश्यो भी 4 फीसदी पर बरकरार रखा है. बता दें कि ये लगातार 11वीं मौद्रिक नीति है जिसमें आरबीआई ने दरों में कोई बदलाव नहीं किया है

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने अपने संबोधन में कहा कि देश में महंगाई दर में बढ़ोतरी का अनुमान है और नीतिगत दरों को लेकर आरबीआई का अकोमडेटिव रुख बरकरार है. इस साल मानसून सामान्य रहने का अनुमान है. रिटेल महंगाई दर के वित्त वर्ष 2022-23 में 5.7 फीसदी पर आने का अनुमान रखा गया है. बता दें कि 6 अप्रैल से 8 अप्रैल के बीच मौद्रिक नीति समीक्षा की बैठक हुई है और इसमें देश की जीडीपी ग्रोथ, महंगाई दर समेत कई मुद्दों पर एमपीसी के सदस्यों के मत के आधार पर फैसले लिए गए हैं

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button