प्रदेश

राजस्थान: The Kashmir Files को लेकर एक महीने के लिए लगी धारा 144

राजस्थान। राजस्थान के कोटा में आज यानी 22 मार्च से 21 अप्रैल तक धारा 144 लागू रहेगी. ‘द कश्मीर फाइल्स’ (The Kashmir Files) की स्क्रीनिंग के साथ कानून-व्यवस्था बनाए रखने के मद्देनजर कोटा जिला कलेक्टर और मजिस्ट्रेट ने यह आदेश जारी किया है. इस पाबंदी को लेकर फिल्म डायरेक्टर विवेक रंजन अग्निहोत्री ने अपना कड़ा विरोध दर्ज कराया है.

द कश्मीर फाइल्स’ के डायरेक्टर विवेक रंजन अग्निहोत्री ने सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से इस मामले में दखल देने की मांग की है. अग्निहोत्री ने ट्विटर के जरिए लिखा, अनुराग ठाकुर जी, अगर लोकतंत्र में न्याय के अधिकार पर बनी फिल्म को राज्य ही नाकाम करता है, तो फिर हम न्याय के बारे में क्या सोचें?

इसके साथ ही डायरेक्टर ने राजस्थान के मुख्यमंत्री के लिए आगे लिखा, ”अशोक गहलोत जी, आतंकवादियों की एक ही ताकत होती है कि वो खौफ पैदा करते हैं और हम डर जाते हैं.” वहीं, ‘द कश्मीर फाइल्स के दर्शकों को संबोधित करते हुए उन्होंने लिखा, यह आपके लिए इंसाफ का वक्त है

कोटा में सांप्रदायिक सौहार्द बनाए रखने के लिए प्रशासन ने मंगलवार से एक माह के लिए जिले में धारा 144 लगा दी है. कार्यवाहक जिला कलेक्टर ने आदेश जारी कर इस पाबंदी का ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि आगामी दिनों में सांप्रदायिक दृष्टि से संवेदनशील त्योहार चेटीचंड, महावीर जयंती, गुड फ्राइडे, जुमातुल विदा, बैसाखी और अन्य त्यौहार आ रहे हैं. इसके साथ ही सिनेमाघरों में ‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म के मद्देनजर भी कानून व्यवस्था बनाए रखना काफी जरूरी है. भीड़ एकत्र होने, धरने, प्रदर्शन, सभा और जुलूस पर रोक लगाई गई है

दूसरी तरफ 22 मार्च को कोटा उत्तर की भाजपा महिला कार्यकर्ताओं का विरोध प्रदर्शन भी प्रस्तावित है. BJP ने यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल के विवादास्पद बयान को लेकर उम्मेद क्लब से लेकर कलेक्ट्रेट तक विशाल ‘चंडी मार्च’ निकालने का निर्णय लिया है. अजमेर की विधायक और पूर्व मंत्री अनिता भदेल, राष्ट्रीय महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष ममता शर्मा और कोटा की पूर्व महापौर सुमन श्रंगी भी इस विरोध प्रदर्शन में मौजूद रहेंगी. प्रशासन के इस आदेश को लेकर भाजपा के पूर्व विधायक प्रहलाद गुंजल ने नाराजगी जताई है

कोटा उत्तर पूर्व से बीजेपी के पूर्व विधायक गुंजल ने बयान जारी करते हुए यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल पर हमला बोला है. उनका कहना है कि यह कार्यक्रम शांति धारीवाल के दिए बयान के खिलाफ महिलाओं का प्रदर्शन है.

गुंजल ने सरकार पर हमला बोलते हुए पूछा कि आखिर कार्यक्रम से एक दिन पहले ही ये धारा 144 क्यों लगाई जाती है? इससे पहले भी तीन बार ऐसा हो चुका है. प्रशासनिक अधिकारियों पर भी नाराजगी जताते हुए बीजेपी नेता ने कहा कि यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल के दबाव में ही इस तरह का कृत्य किया जा रहा है, लेकिन उनका प्रदर्शन हर हाल में निकलेगा. इस तरह की धाराओं से भी नहीं डरते हैं

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button