Advertisement
प्रदेश

Rajasthan: मां ने मोबाइल छीना तो बेटे ने कुएं में लगा दी छलांग, दो दिन बाद मिला शव

Advertisement

राजस्थान (Rajasthan) के पाली से एक दर्दनाक घटना सामने आई है. यहां एक 16 साल के बच्चे ने फोन (Mobile Phone) छिनने से आहत होकर आत्महत्या (Suicide) कर ली है. मामला मुंडारा गांव का है. यहां ट्रक ड्राइवर हरिलाल मेघवाल के 16 साल के बेटे योगेश ने आत्महत्या कर ली है. जानकारी के अनुसार योगेश को इंस्टाग्राम रील (Reels) बनाने का शौक था. योगेश रील बनाने में इतना डूबा हुआ था कि पढ़ाई तो दूर, वो खाना-पीन तक नहीं करता था

योगेश की मां ने उसकी इस आदत को लेकर उसे कई बार टोका लेकिन उस पर कोई असर नहीं हुआ. तंग आकर मां ने मोबाइल छिन लिया. लेकिन इस बात से वो इतना आहत हो गया कि उसने कुएं में छलांग लगा दी. रविवार शाम को उसका शव कुएं से निकाला गया.

रील बनाने के शौक में गई जान

मीडिया रिपोट्स के अनुसार योगेश के पिता अक्सर काम से बाहर रहते थे. घर की पूरी जिम्मेदारी योगेश की मां लीलादेवी के कंधों पर आ गई. पिछले कुछ महीनों से योगेशन मोबाइल पर रील बना रहा था. स्कूल से आने के बाद वो मोबाइल लेकर निकल जाता था और गांव की गलियों में, तालाब किनारे वीडियो बनाता रहता था

इससे परेशान होकर 7 जनवरी को योगेश ने दिनभर मोबाइल पर वीडियो बनाने को लेकर डांटा. मां ने उससे मोबाइल भी छिन लिया. इससे नाराज होकर योगेश शाम को पांच बजे घर से बिना बताए निकल गया. परिजनों ने उसे ढूंढने की बहुत कोशिश की लेकिन उसका कोई सुराग नहीं मिला. शनिवार को उन्होंने सादड़ी थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई

आधे घंटे की मशक्कत के बाद निकाला गया शव

गांव के शिवकुंड स्थिल कुएं में रविवार दोपहर योगेश का शव मिला. ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी. सादड़ी से जितेंद्र सिंह राठोड़ की ईगल रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंची. करीब आधा घंटे की मशक्कत के बाद शव को बाहर निकाल गया. शव की पहचान योगेश के रूप में हुई. अपने बेटे का देश कर मां लीलादेवी खूब रोईं. मां बार-बार यही बात कह रही थी कि मुझे पता होता कि ये ऐसा कदम उठा लेगा. तो मोबाइल के लिए कभी नहीं टोकती. मैं तो उसका भला चाहती थी, लेकिन मुझे जीवन भर का दर्द दे दिया.

Advertisement
Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button