Advertisement
छत्तीसगढ़प्रदेश

रायपुर: IPS रत्ना सिंह का महिलाओं ने खींचा कॉलर

Advertisement
Advertisement

रायपुर। होमगार्ड और सहायक आरक्षक, स्तर के जवानों के परिजन उनके वेतन और प्रमोशन के नियमों में बदलाव को लेकर पिछले महीने से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इस मामले में छत्तीसगढ़ के डीजीपी अशोक जुनेजा ने एक रिपोर्ट भी सरकार को सौंप दी है, जिस पर जल्द फैसला लिया जाना है।

सरकार की तरफ से कहा गया है कि सहायक आरक्षकों की तरह ही वेतन मिलेगा। DGP की तरफ से मिली रिपोर्ट की समीक्षा की जा रही है, जिसके बाद मुख्यमंत्री इस मामले में घोषणा कर सकते हैं। मगर इससे पहले ही विरोध प्रदर्शन के दौरान हुए बवाल ने नया विवाद खड़ा कर दिया है।

इसी बीच महिलाओं का साथ देने कुछ राजनीतिक दलों के नेता भी वहां पहुंचे और महिलाओं को प्रोत्साहन और समर्थन दिया, जसके बाद उज्जवल की रिहाई की मांग कर रही महिलाओं ने बवाल खड़ा कर दिया। गुस्से में आई इन महिलाओं ने वहां व्यवस्था संभल रही सब इंस्पेक्टर दिव्या शर्मा के साथ मारपीट की।

दिव्या शर्मा पर प्रदर्शनकारी महिलाओं का झुंड टूट पड़ा और उन्हें पीटने लगा। यह घटना मीडिया के कैमरे में भी कैद हुई। इसी दौरान महिलाओं ने आईपीएस रत्ना सिंह का कॉलर खींचा, खबर है कि इस खींचतान में उनका बैच भी टूट गया

दिव्या शर्मा ने देर रात इस मामले में रायपुर के डीडी नगर थाने में पहुंचकर शिकायत की। अज्ञात महिलाओं के खिलाफ केस दर्ज किया गया। पुलिस परिवार के अधिकारों की लड़ाई लड़ने वाले सामाजिक कार्यकर्ता राकेश यादव और दूसरे प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सरकारी काम में बाधा और बलवा का केस दर्ज किया गया है। इस मामले में पुलिस परिजनों का नेतृत्व करने वाले उज्जवल दीवान, नवीन राय समेत 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button