Advertisement
उत्तर प्रदेश
Trending

समाजवादी इत्र वाले Pumpi jain के ठिकानों पर आज दूसरे दिन भी छापेमारी जारी

Advertisement

कानपुर, समाजवादी इत्र बनाने वाले विधान परिषद सदस्य (एमएलसी) इत्र कारोबारी पुष्पराज जैन ‘पम्पी’ (Pumpi jain) और अन्य इत्र व्यवसायी फौजान मलिक के कन्नौज स्थित घर व प्रतिष्ठानों पर आयकर ने छापेमारी जारी है। शुक्रवार सुबह सवा सात बजे से शुरू हुई कार्रवाई लगातार 24 घंटे से अभी चल रही है। फौजान मलिक के घर पर बड़ी मात्रा में कैश और जेवरात मिलने के संकेत मिल रहे है, आयकर विभाग के अधिकारियों ने एचडीएफसी बैंक के कर्मचारियों को बुलाया है। बैंक कर्मी अपने साथ नोट गिनने की मशीन भी लेकर आए हैं। यहां रात भर आयकर विभाग की टीम ने छापेमारी की। फिलहाल आयकर विभाग के अधिकारी कुछ भी बताने से कतरा रहे हैं

इसके अतिरिक्त कानपुर के अलावा हाथरस, लखनऊ, दिल्ली व मुंबई में भी 35 स्थानों पर भी छापा मारा गया है। कानपुर में पम्पी जैन के बहनोई डा. अनूप जैन के आनंदपुरी स्थित घर व प्रतिष्ठानों पर भी जांच की गई है, फिलहाल अनूप मुंबई में हैं। एमएलसी पम्पी जैन के घर से बड़ी संख्या में शेयर प्रपत्र मिले हैं और वह पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के करीबी हैं। जीएसटी के अधिकारी भी आयकर की छापेमारी में सहयोग कर रहे हैं

इत्र कारोबारी पीयूष जैन के कानपुर और कन्नौज से अबतक 196 करोड़ रुपये कैश की बरामदगी के बाद आयकर विभाग ने कन्नौज के इत्र कारोबारियों पर नजरें टेढ़ी कर दी हैं। शुक्रवार की सुबह आयकर विभाग की टीम ने कन्नौज में एमएलसी इत्र कारोबारी पुष्पराज जैन और दूसरे कारोबारी फौजान मलिक के घर व प्रतिष्ठानों पर छापा मारा, जो 24 घंटे बाद भी जारी है।

दोनों ही कारोबारियों के यहां दूसरे दिन शनिवार की सुबह भी टीम में शामिल अफसर इत्र कारोबारियों के मुनीम समेत अन्य कर्मचारियों से पूछताछ कर रहे हैं। कर्मचारियों को रात में घर नहीं जाने दिया गया। टीम को फौजान मलिक के आवास में 22 कमरे मिले हैं, हर कमरे को खुलवाकर बारी बारी से जांच की जा रही है। इत्र कारोबारी पुष्पराज जैन के कोल्ड स्टोरेज और पेट्रोल पंप पर भी टीम पूरी रात पड़ताल करती रही

Advertisement
Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button