अंतर्राष्ट्रीय
Trending

पाकिस्तान में सियासी संकट: Imran Khan का देश को संबोधन, कहा- मैं अपनी कौम को किसी की गुलामी नहीं करने दूंगा

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) आज राष्ट्र के नाम संबोधन कर रहे हैं. उन्होंने अपने संबोधन के दौरान कहा कि पाकिस्तान के लिए आज फैसले की घड़ी है. आज मैं देश से लाइव बात कर रहा हूं. इमरान ने संबोधन के दौरान कहा कि पाकिस्तान मुझसे सिर्फ पांच साल बड़ा है. हम यहां की पहली जेनरेशन हैं. इमरान ने इस दौरान कहा कि पाकिस्तान का फैसला रविवार को होगा. संसद में वोटिंग होगी और तय होगा कि पाकिस्तान की सत्ता में कौन काबिज होगा. लेकिन जो लोग यह कह रहे हैं कि इमरान इस्तीफा देगा तो वो यह जान लें कि इमरान आखिरी बॉल तक मैदान पर डटा रहा है और डटा रहेगा

इमरान खान ने अपने संबोधन में कहा कि अमेरिका का हिमायती बनना मुशर्रफ की बड़ी गलती थी. मैं आजाद विदेश नीति का पक्षधर हूं. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान अमेरिका के साथ लड़ा और उसने ही प्रतिबंध लगा दिए. उन्होंने कहा कि मैं भारत या किसी और से विरोध नहीं चाहता. उन्होंने कहा कि हमारी फॉरेन पॉलिसी किसी के खिलाफ नहीं थी. मैंने पहली बार भारत के खिलाफ तब बोला जब भारत ने कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय कानून को 5 अगस्त 2019 को तोड़ा

संबोधन के दौरान इमरान ने कहा कि जब से मैंने सत्ता संभाली, पहले ही दिन से मैंने ऐसी फॉरेन पॉलिसी बनाई जो पाकिस्तान के लोगों के लिए हो. पाकिस्तान के लोगों के लिए का मतलब ये नहीं है कि हम किसी और से दुश्मनी कर लें. इमरान खान ने अपने संबोधन के दौरान गुरुवार को कहा कि ना मैं झुकूंगा और ना ही अपनी कौम को झुकने दूंगा. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान दहशतगर्दी के खिलाफ है. पाकिस्तान के कबाइली इलाकों के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि वे कबाइली इलाकों को दूसरों से बेहतर जानते हैं

इमरान खान ने कहा कि अमेरिका को मुझसे दिक्कत है, दूसरे दलों या नेताओं से नहीं है. अमेरिका ने रिश्ते खत्म करने की धमकी दी. इमरान ने कहा कि बाहरी लोगों ने यहां के लोगों के साथ मिलकर हमारी सरकार को गिराने की साजिश रची. उन्होंने कहा कि रूस जाने का फैसला हमारे अकेले का नहीं था. मेरे रूस जाने से अमेरिका नाराज हो गया. पाकिस्तान के लोगों को संबोधित करते हुए इमरान खान ने कहा कि उन्होंने मुल्क को नीचे जाते देखा है.

वॉर ऑन टेरर पर पाकिस्तान को जिल्लत देखनी पड़ी. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान विदेशी ताकतों के सामने चीटियों की तरह रेंग रहा है. उन्होंने कहा कि हमारी फॉरेन पॉलिसी आजाद होगी, इसका फायदा पाकिस्तान को होगा. उन्होंने कहा, ‘मैं सभी मुल्कों को जानता हूं. मैं किसी देश के खिलाफ हो ही नहीं सकता. किसी और की लड़ाई के लिए हम पाकिस्तानयों को कुर्बान क्यों करें. हमने रूस के खिलाफ जेहाद किया, हमने मुजाहिद भेजे. रूस से युद्ध के बाद ने अमेरिका में हमारे ऊपर प्रतिबंध लगा दिए

AdvertisementSubscribe & Support Us!

‘द मूकनायक’ जनवादी पत्रकारिता करता है. यह संविधान, लोकतंत्र और सामाजिक न्याय पर चलने वाला चैनल है. अगर आप भी चाहते हैं कि ‘द मूकनायक’ हमेशा हाशिए पर खड़े लोगों की आवाज़ बुलंद करता रहे, बेजुबानों की पीड़ा दिखाते रहे तो सपोर्ट करें !.

‘द मूकनायक’ जनवादी पत्रकारिता करता है. यह संविधान, लोकतंत्र और सामाजिक न्याय पर चलने वाला चैनल है. अगर आप भी चाहते हैं कि ‘द मूकनायक’ हमेशा हाशिए पर खड़े लोगों की आवाज़ बुलंद करता रहे, बेजुबानों की पीड़ा दिखाते रहे तो सपोर्ट करें !

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button