राजनीति
Trending

मोदी जी के चार-पांच मित्रों की भरी जा रही जेब, बीजेपी के कार्यकाल में दोगुने हुए सिलेंडर के दाम- Rahul Gandhi

कांग्रेस नेता और सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने रसोई गैस और पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने बुधवार को कहा कि ईंधन की कीमतों में जब भी इजाफे की बात कही जाती है तो कह दिया जाता है कि अंतरराष्ट्रीय कीमतों में इजाफा हो रहा है। यह बात गलत है। हमारी सरकार थी, तब क्रूड ऑयल की कीमत 105 डॉलर प्रति बैरल था और अब यह 71 डॉलर प्रति बैरल है। उन्होंने आगे कहा कि देश के सामने 1991 जैसा ही संकट पैदा हो रहा है। यह अर्थव्यवस्था की समस्या नहीं है बल्कि ढांचागत समस्या है। इससे नीतियों में बदलाव किए बिना बाहर निकला नहीं जा सकता है।

राहुल गांधी ने आगे कहा कि देश के युवाओं को यह सोचना चाहिए कि यह आपका पैसा है और इसे किसके हाथों में दिया जा रहा है। राहुल गांधी ने कहा कि 23 लाख करोड़ रुपए की रकम किन हाथों में जा रही है। इसके अलावा पीएम नरेंद्र मोदी पर सीधा हमला बोलते हुए राहुल गांधी ने कहा कि मोनेटाइजेशन प्लान से 6 लाख करोड़ रुपए जुटाने की बात की जा रही है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के ही 4 से 5 प्रिय मित्रों के हाथों में इसके तहत देश की संपत्ति चली जाएगी। 

अभिव्यक्ति को रोका जा रहा है

महंगाई समेत कई मुद्दों पर कांग्रेस का विरोध नजर न आने को लेकर राहुल गांधी ने कहा कि अभिव्यक्ति को रोका जा रहा है। आप जानते हैं कि मीडिया को बोलने नहीं दिया जा रहा है। हमें संसद में भी रोका जा रहा है। लेकिन इससे गुस्सा बढ़ता जाएगा और रिएक्शन जबरदस्त होगा। राहुल गांधी ने कहा कि हम लाखों लोगों को लेकर सड़क पर उतर सकते हैं, लेकिन उसके दूसरे खतरे हैं। इसलिए हम ऐसा करने से बच रहे हैं। राहुल गांधी ने कहा कि केंद्र सरकार को 23 लाख करोड़ रुपये की रकम बढ़े हुए टैक्स से मिली है। आखिर यह रकम कहां जाएगी। हमारी सरकार के दौर में जब 105 डॉलर प्रति बैरल कच्चा तेल था तो देश में पेट्रोल की कीमत 71 रुपये लीटर थी। आज दुनिया में क्रूड 71 में है तो पेट्रोल की कीमत 100 रुपए के पार है। 

आर्थिक नीतियों को हमने चलाया, वह अब नहीं 

उन्होंने कहा कि हमने जिन आर्थिक नीतियों को हमने 1991 से 2012 तक चलाया, वह अब नहीं है। यह बात सही है कि 2012 के बाद से वह काम नहीं कर रही थी। हमारा कहना है कि एक नई एप्रोच की जरूरत है। पीएम मोदी ने वादा किया था कि मैं ऐसा करूंगा। वह न्यू इंडिया, मेक इन इंडिया की बात करते हैं, लेकिन ये सभी बातें खोखली हैं।

‘PM, वित्त मंत्री को कुछ समझ नहीं आता तो हम भेज देंगे एक्सपर्ट’

राहुल गांधी ने कहा कि अर्थव्यवस्था फेल हो रही है। यदि पीएम नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री को कुछ समझ नहीं आता है तो हम अपने एक्सपर्ट्स को भेज देंगे। राहुल गांधी ने कहा कि शेयर बाजार में तेजी से उछाल देखने को मिल रहा है, लेकिन यह 50 कंपनियों का ही तमाशा है। देश की 300 से 400 प्रमुख कंपनियों की हालत खराब हो रही है। वही देश का भविष्य हैं, लेकिन उनकी हालत खराब हो रही है। देश को रोजगार मध्यम श्रेणी की इंडस्ट्री देती है, लेकिन मोदी जी के दिमाग में उनके लिए कोई जगह ही नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button