Advertisement
राष्ट्रीय
Trending

PM Narendra Modi ने त्रिपुरा में PMAY-G लाभार्थियों को जारी की पहली किस्त

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने रविवार को त्रिपुरा के 1.47 लाख से भी अधिक लाभार्थियों को प्रधानमंत्री आवास योजना- ग्रामीण (PMAY-G) की पहली किस्त ट्रांसफर की. पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए लाभार्थियों के खातों में पैसों को ट्रांसफर किया. लाभार्थियों के बैंक खातों में सीधे 700 करोड़ रुपये से अधिक की राशि जमा की गई. इस कार्यक्रम में त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब (Biplab Kumar Deb) भी हिस्सा ले रहे हैं. वहीं, केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने भी इस कार्यक्रम में हिस्सा लिया.

इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, हमारी यही कोशिश है कि देश के सामान्य मानवी को किसी भी योजना के लिए न तो भटकना पड़े और न ही उसके पैसे को किसी बिचौलिए द्वारा छीना जाए. उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री आवास योजना में पारदर्शी ढंग से चयन, घरों की जिओ टैगिंग, ग्रामसभा में नाम का एलान, निष्पक्ष सर्वे और DBT इसी सोच का हिस्सा है. आपको पहले की सरकारें भी याद होंगी, जहां कट कल्चर के बिना कोई काम ही नहीं होता था

डबल इंजन वाली सरकार विकास में जुटी

पीएम मोदी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा, आज प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत दी गई पहली किश्त ने त्रिपुरा के सपनों को भी नया हौसला दिया है. मैं पहली किश्त का लाभ पाने वाले करीब-करीब डेढ़ लाख परिवारों को, सभी त्रिपुरा-वासियों को हृदय से बधाई देता हूं. उन्होंने कहा, अब त्रिपुरा को गरीब बनाए रखने वाली, त्रिपुरा के लोगों को सुख-सुविधाओं से दूर रखने वाली सोच की त्रिपुरा में कोई जगह नहीं है. अब यहां डबल इंजन की सरकार पूरी ताकत से, पूरी ईमानदारी से राज्य के विकास में जुटी है.

पहले विकास की गंगा यहां पहुंचने से पहले सिमट जाती थी

प्रधानमंत्री ने कहा, आज देश के विकास को ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ की भावना से देखा जाता है. विकास को अब देश की एकता-अखंडता का पर्याय माना जाता है. पहले देश के उत्तरी और पश्चिमी हिस्सों से हमारी नदियां तो पूरब आती थीं. उन्होंने कहा कि लेकिन विकास की गंगा यहां पहुंचने से पहले ही सिमट जाती थी. देश के समग्र विकास को टुकड़ों में देखा जाता था, सियासी चश्मे से देखा जाता था. इसलिए, हमारा पूर्वोत्तर खुद को उपेक्षित महसूस करता था.

लोगों को लगाने पड़ते थे सरकारी दफ्तरों के चक्कर, अब सरकार खुद आती है पास

लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, भारत के विकास में, आत्मविश्वास से भरी हुई भारत की महिला शक्ति का बहुत बड़ा योगदान है. इस महिला शक्ति का बहुत बड़ा प्रतीक, हमारे महिला सेल्फ हेल्प ग्रुप भी हैं. उन्होंने कहा, पहले अपने एक एक काम के लिए सामान्य मानवी को सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगाने पड़ते थे, लेकिन अब तमाम सेवा और सुविधाएं देने के लिए सरकार खुद आपके पास आती है. पीएम ने कहा, पहले सरकारी कर्मचारी समय पर सैलरी मिल जाए इसके लिए परेशान रहते थे, अब उन्हें सातवें वेतन आयोग का लाभ मिल रहा है.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, कैसे कम समय में बड़े बदलाव हो सकते हैं, सीमित समय में नई व्यवस्थाएं खड़ी की जा सकती हैं, त्रिपुरा ने करके दिखाया है. पहले यहां कमीशन और करप्शन के बिना बात नहीं होती थी, लेकिन आज सरकारी योजनाओं का लाभ DBT के जरिए सीधे आपके खातों में पहुंच रहा है

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button