अंतर्राष्ट्रीय

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन से मिले पीएम Narendra Modi

अमेरिका दौरे पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने गुरुवार को अलग-अलग क्षेत्र की पांच प्रमुख कंपनियों के सीईओ के साथ मुलाकात की। जिन पांच कंपनियों के शीर्ष अधिकारियों से पीएम मोदी ने मुलाक़ात की, उनमे एडोब के सीईओ शांतनु नारायण और जनरल एटॉमिक्स के सीईओ विवेक लाल भारतीय मूल के अमेरिकी हैं। पीएम मोदी और एडोब के सीएओ के साथ हुई बैठक को लेकर विदेश मंत्रालय ने कहा कि प्रधानमंत्री और शांतनु नारायण के बीच चर्चा युवाओं को स्मार्ट शिक्षा प्रदान करने और भारत में अनुसंधान को बढ़ाने के लिए प्रौद्योगिकी का लाभ उठाने पर केंद्रित थी।

बैठक के बाद, नारायण ने कहा कि भारत में विस्तार कैसे किया जाए, इस बारे में उनके (प्रधानमंत्री मोदी) दृष्टिकोण के बारे में जानकर हमेशा बहुत खुशी होती है। जिन प्रमुख विषयों पर हमने बात की उनमें इनोवेशन में निरंतर निवेश एक था। उन्होंने कहा कि प्रौद्योगिकी आगे बढ़ाने का तरीका है। 

राष्ट्रीय शिक्षा नीति के बारे में बोलते हुए, नारायण ने कहा कि यह लोगों की सबसे बड़ी संपत्ति हैं और एडोब शिक्षा पर ज्यादा से ज्यादा जोर देने का समर्थन करता है। उन्होंने कहा कि हमारे लिए, हमारी सबसे बड़ी सपंत्ति लोग हैं। शिक्षा को प्रोत्साहित करने के संबंध में जो कुछ भी होता है, डिजिटल साक्षरता होने से एडोब को मदद मिलती है। हम शिक्षा में अधिक जोर देने और रुचि के बहुत समर्थक हैं।

पीएम मोदी ने बाद में कहा कि उन्होंने एड-टेक से संबंधित दिलचस्प विचारों, भारतीय स्टार्ट-अप का समर्थन करने और इनोवेशन को बढ़ावा देने पर चर्चा की। पीएम मोदी ने ट्वीट कर बताया कि शांतनु ने वीडियो और एनिमेशन का आनंद भारत के हर बच्चे तक पहुंचाने की इच्छा जताई।

इसके अलावा प्रधानमंत्री मोदी ने जनरल एटॉमिक्स के सीईओ विवेक लाल से भी मुलाकात की। विवेक लाल भारतीय मूल के अमेरिकी हैं। नारायण के अलावा, पीएम मोदी ने क्वालकॉम, फर्स्ट सोलर, जनरल एटॉमिक्स और ब्लैकस्टोन ग्रुप के सीईओ के साथ अलग-अलग बैठकें कीं। फर्स्ट सोलर सीईओ मार्क आर विडमार ने प्रधानमंत्री के नेतृत्व के की सराहना करते हुए कहा कि भारत सरकार ने उद्योग और व्यापार नीतियों के बीच एक मजबूत संतुलन बनाया है।

वहीं, फर्स्ट सोलर के प्रमुख ने पीएम मोदी के साथ बैठक के दौरान अनूठी ‘थिन-फिल्म’ प्रौद्योगिकी के साथ सौर बिजली उपकरण विनिर्माण को लेकर भारत सरकार की महत्वकांक्षी उत्पादन आधारित प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना के उपयोग तथा भारत को इस मामले में वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला से जोड़ने की योजना साझा की। सूत्रों के अनुसार विडमर ने भारत की जलवायु परिवर्तन और संबंधित उद्योगों से जुड़ी नीतियों की सराहना की। फर्स्ट सोलर के सीईओ ने कहा कि जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों से निपटने के लिये भारत ने जो किया है, उसका सभी देशों को अनुकरण करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button