छत्तीसगढ़

जगदलपुर प्रवीर वार्ड के रिहायशी इलाकों के पास मगरमच्छ के विचरण से ,भयभीत लोग

इन दिनों प्रवीर वार्ड में इंद्रावती नदी के किनारे निवास करने वाले लोग बेहद दहशत में हैं ,मामला दरअसल ये है कि कोहकापाल के नदी तट से एक मगरमच्छ का बच्चा रिहायशी इलाके के समीप पहुंच गया था ,और जब स्थानीय लोगों ने इसे अपने घरों के इतने नजदीक देखा तो वो भयभीत हो गए

इसकी सूचना लोगों ने पार्षद को दी ,पार्षद महेंद्र पटेल ने बताया कि ,विगत वर्ष ही मगरमच्छ के 4 बच्चे इंद्रावती नदी में पुराने पुलिया के आसपास देखे गए थे ,चूंकि उक्त स्थान में प्रवीर वार्ड के लोग अधिकांश लोग स्नान आदि करते हैं इसलिए किसी भी दुर्घटना का कारण बन सकता था

कोहकापाल में देखा गया मगरमच्छ
इसलिए इस संदर्भ में पार्षद महेंद्र पटेल ने वनविभाग को एक आवेदन देकर ,इन मगरमच्छ के बच्चों को सुरक्षित स्थान में छोड़ने की मांग की थी पर वन विभाग द्वारा इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं को गई

चूंकि अब मगरमच्छ के बच्चे पहले की तुलना में आकार में काफी बड़े होते जा रहे हैं और युवा अवस्था तक इनका आकार विशाल हो जायेगा इसलिए वनविभाग को इनको कांगेर घाटी में भैसा दरहा जो कि मगरमच्छों के अभ्यारण के रूप में प्रसिद्ध है वहां ले जाकर छोड़ना चाहिए

मगरमच्छ के 4 बच्चों के होने की खबर

प्रवीर वार्ड के प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि 7 महीने पूर्व पुराने पुलिया के करीब मगरमच्छ के 4 बच्चे देखे गए थे उस समय इनका आकार 3 फिट के लगभग था ,परंतु अब उनकी उम्र के साथ आकार भी बढ़ रहा है , सामान्यतः पूर्ण विकसित मगरमच्छ का आकार 10 फिट से ज्यादा तक हो सकता है और यदि इतने विशाल मगरमच्छ रिहायशी इलाकों के इतने करीब रहेंगे तो कभी भी अनहोनी की स्थिति बन सकती है

पुराने पुल के निचली तरफ है मगरमच्छों का बसेरा

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार पुराने पुलिया के कुछ ही मीटर दूर 3 मगरमच्छों का घोसला बताया जा रहा है ,और चौथा मगरमच्छ कोहकापाल में देखा गया है ये इस बात का संकेत है कि ये मगरमच्छ अपने इलाके का विस्तार कर रहे हैं या अपने क्षेत्र से आहार की तलाश में दूर तक जा रहे हैं

कभी भी बन सकती है इंसानों और इनके बीच टकराव की स्थिति

जिस स्थान पर मगरमच्छों ने अपना घोंसला बनाया हुआ है उससे कुछ ही दूर पर लोग स्नान आदि करते रहते हैं ,चूंकि मगरमच्छ के बच्चे बढ़ती अवस्था में हैं और वो शिकार के लिए वो आसपास के क्षेत्र रिहायशी क्षेत्र में कभी भी आ सकते है या नदी में ही नहाने वाले किसी व्यक्ति पर हमला का कर सकते हैं तो इससे इंसानों से टकराव की स्थिति बन सकती ह

वनविभाग मगरमच्छों के लिए अनुकूल जगह में इन्हे करे स्थानांतरित

वार्ड पार्षद महेंद्र पटेल समेत सभी वार्ड वासियों का कहना है की वनविभाग इन मगरमच्छों को इंसानी आबादी से दूर इनके लिए अनुकूल जगह पर इनका स्थानांतरण करे ,इससे न केवल वार्ड वासियों को राहत मिलेगी अपितु मगरमच्छों को अनुकूल माहौल और वातावरण मिलेगा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button