राष्ट्रीय
Trending

फेस्टिव सीजन में रुलाएगी प्‍याज की महंगाई? 100 प्रतिशत तक बढ़ सकती हैं कीमतें

पहले से ही महंगाई की मार झेल रही जनता को इस त्योहारी सीजन में एक और झटका लगने वाला है. एक अनुमान के मुताबिक, फेस्टिव सीजन के दौरान प्याज की कीमतें ऊंची रह सकती हैं. पेट्रोल और डीजल की बढ़ी हुई कीमतों के कारण रोजमर्रा की जरूरत की सभी चीजें पहले से ही महंगी हो चुकी हैं. खाने के तेल की कीमतों में रिकॉर्ड तेजी ने किचन का बजट बिगाड़ रखा है और अब आम लोगों को प्याज भी रुलाने को तैयार है.

क्रिसिल रिसर्च की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि प्याज की कीमतें अक्टूबर-नवंबर के दौरान ऊंची बने रहने की आशंका है, क्योंकि अनिश्चित मॉनसून के कारण इस फसल के आने में देरी हो सकती है. रिपोर्ट के मुताबिक, खरीफ फसल की आवक में देरी और चक्रवात तौकते के कारण बफर स्टॉक में रखे माल के जल्द खराब होने से कीमतों में वृद्धि की संभावना है

100 प्रतिशत से अधिक बढ़ सकता है प्याज का दाम

रिपोर्ट के अनुसार, ‘वर्ष 2018 की तुलना में इस वर्ष भी प्याज की कीमतों में 100 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि की संभावना है. महाराष्ट्र में फसल की रोपाई में आने वाली चुनौतियों के कारण खरीफ 2021 के लिए कीमतें 30 रुपए प्रति किलोग्राम को पार करने की उम्मीद है. हालांकि, यह खरीफ 2020 के उच्च आधार के कारण साल-दर-साल (1-5 प्रतिशत) से थोड़ा कम रहेगा.’

रिपोर्ट में कहा गया है कि बारिश की कमी के कारण फसल की आवक में देरी के बाद अक्टूबर-नवंबर के दौरान प्याज की कीमतों के उच्च स्तर पर रहने की संभावना है, क्योंकि रोपाई के लिए महत्वपूर्ण महीना, अगस्त में मॉनसून की स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ. क्रिसिल रिसर्च को उम्मीद है कि खरीफ 2021 का उत्पादन साल-दर-साल तीन प्रतिशत बढ़ेगा. हालांकि महाराष्ट्र से प्याज की फसल देर से आने की उम्मीद है. अतिरिक्त रकबा, बेहतर पैदावार, बफर स्टॉक और अपेक्षित निर्यात प्रतिबंधों से कीमतों में मामूली गिरावट आने की उम्मीद है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button