Advertisement
प्रदेश
Trending

दिल्ली की लड़की को ‘SEX’ अक्षर वाली पंजीकरण संख्या जारी करने पर नोटिस जारी

Advertisement
Advertisement

दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) ने परिवहन विभाग को एक नोटिस जारी कर ‘SEX‘ सीरीज वाली वाहन पंजीकरण संख्या में बदलाव की मांग की है। इसके साथ ही डीसीडब्ल्यू ने विभाग से अपने जवाब में नई सीरीज के तहत पंजीकृत वाहनों की कुल संख्या का बताने को भी कहा है। जानकारी के अनुसार, एक लड़की ने हाल ही में एक स्कूटी खरीदी थी, उसके वाहन पंजीकरण संख्या सीरीज में ‘SEX’ अक्षर थे, जिसके कारण उसे तानों, शर्मिंदगी और प्रताड़ना का सामना करना पड़ा

लड़की ने महिला आयोग को सूचित किया कि आवंटित सीरीज पंजीकरण संख्या के कारण उसे गंभीर उत्पीड़न का सामना करना पड़ रहा था, क्योंकि लोगों ने उसे इसके लिए ताने मारे और चिढ़ाया। उन्होंने कहा कि इस सबके कारण उसे कहीं भी आने-जाने में दिक्कत हो रही है और जरूरी काम से वह बाहर नहीं जा पा रही है। आयोग ने मामले का संज्ञान लेते हुए परिवहन विभाग को नोटिस जारी कर स्कूटी के वाहन पंजीकरण संख्या में तत्काल बदलाव की मांग की है। आयोग ने परिवहन विभाग से इस सीरीज में पंजीकृत वाहनों की कुल संख्या बताने को भी कहा है। आयोग ने विभाग को मिली ऐसी सभी शिकायतों का ब्योरा भी मांगा है। अंतत: आयोग ने परिवहन विभाग से 4 दिन के भीतर मामले में की गई कार्रवाई की विस्तृत रिपोर्ट मांगी है

डीसीडब्ल्यू प्रमुख स्वाति मालीवाल के हवाले से एक बयान में कहा गया है, “यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि लोग इतने क्रूर और अपमानजनक हो सकते हैं कि लड़की को इतना उत्पीड़न झेलना पड़ रहा है। मैंने इस समस्या का समाधान करने के लिए परिवहन विभाग को चार दिन का समय दिया है ताकि लड़की को अब और परेशानी न हो। स्वाति मालीवाल ने इस नोटिस में परिवहन विभाग से ‘SEX’ शब्द वाली इस आवंटित सीरीज में पंजीकृत वाहनों की कुल संख्या बताने के लिए कहा है। हालांकि, परिवहन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शनिवार को कहा था कि मामला सामने आने के बाद पूरी सीरीज को रोक दिया गया है। जिस किसी के पास इस सीरीज में रजिस्ट्रेशन नंबर है, वह इसे बदलवा सकते हैं

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker