Advertisement
राष्ट्रीय
Trending

Malegaon Blast: कोर्ट में गवाह का दावा, योगी आदित्यनाथ व RSS के नेताओं को फंसाने का था दबाव

Advertisement
Advertisement

मालेगांव विस्फोट (Malegaon Blast) मामले के एक गवाह ने मंगलवार को अदालत में दावा किया कि आतंकवाद निरोधी दस्ता (एटीएस) ने उसे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के चार नेताओं के नाम लेने के लिए मजबूर किया था। गवाह के इस दावे के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस पर बरसते हुए इसे देश के खिलाफ अपराध करार दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को इसके लिए देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए। गौरतलब है कि 2008 में हुए इस धमाके के दौरान देश में कांग्रेस के नेतृत्व में यूपीए की सरकार थी

योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को एक कार्यक्रम में कहा, ”कांग्रेस ने इस देश में सर्वाधिक समय तक शासन किया। लेकिन शासन किस रूप में कर रही थी। आज आपने महाराष्ट्र एटीएस का बयान देखा होगा। उस समय कैसे बीजेपी के कार्यकर्ताओं और नेताओं  को , आरएसएस के नेताओं को और हिंदू नेताओं को झूठे मुकदमे में फंसाने की कोशिश कर रहे थे। कांग्रेस की यह शरारत देश के खिलाफ अपराध है। उसे देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए।”

योगी आदित्यानाथ ने आगे कहा, ”आतंकवादियों को प्रेरित और पोषित करने वाली ये कांग्रेस देश के साथ कैसे खिलवाड़ कर रही थी, ये किसी से छिपा नहीं है। पहले जब सत्ता में थे तब आतंकियों को प्रेरित करते थे और आज जब सत्ता से बाहर हैं तो जनता के हित के हर कार्यों का विरोध करते हैं

क्या है गवाह का दावा
गवाह ने मंगलवार को विशेष एनआईए अदालत में गवाही दी। एटीएस ने उसका बयान उस वक्त दर्ज किया था, जब वह मामले की जांच कर रहा था। एनआईए ने मामले की जांच की जिम्मेदारी बाद में संभाल ली थी। गवाह ने अपनी गवाही के दौरान अदालत को बताया कि एटीएस के तत्कालीन वरिष्ठ अधिकारी परमबीर सिंह और एक अन्य अधिकारी ने उसे उत्तर प्रदेश के मौजूदा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और इंद्रेश कुमार सहित आरएसएस के चार नेताओं का नाम लेने को कहा था। उल्लेखनीय है कि मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह उस वक्त एटीएस के अतिरिक्त आयुक्त थे, जब इसने 2008 के मालेगांव विस्फोट मामले की जांच की थी। सिंह जबरन वसूली के कई मामलों का अभी सामना कर रहे हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button