मध्य प्रदेश
Trending

Madhya Pradesh: नाबालिग छात्रा ने खुद पर मिट्टी तेल डालकर लगा ली आग

Madhya Pradesh: छतरपुर में एक नाबालिग छात्रा द्वारा खुद को आग लगाने का मामला सामने आया है। उसने घर में रखे मिट्टी के तेल को अपने शरीर पर डालकर खुद को आग लगा ली, जिससे वह बुरी तरह जल गई। जिसे उसके परिजन गंभीर हालत में जिला अस्पताल लेकर आए जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे ग्वालियर मेडिकल रेफर कर दिया गया। घटना के पीछे मोबाइल का मामला बताया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक मामला छतरपुर शहर सिविल लाइन थाना क्षेत्र के गठेवरा गांव का है, जहां रहने वाले दौलत सिंह की 16 वर्षीय कक्षा 9 में पढ़ने वाली नाबालिग बेटी गुड्डन उर्फ पलक राजा ने अपने ही घर में खुद पर मिट्टी के तेल डालकर आग लगा ली

घायल छात्रा और परिजनों की मानें तो घटना की मुख्य वजह 2 मोबाइल बताए जा रहे हैं, जो कि उसके घर में चार्ज हो रहे थे। जिन्हें उसके भाई ने देख लिया और बहन से छीनकर अपने पास रख लिए। भाई के जाने के बाद बहन ने चुपचाप भाई के कमरे से निकाल लिए। इसी बात को लेकर बवाल मच गया और यह वारदात हो गई। घायल गुड्डन उर्फ पलक की मानें तो उसने आग खुद ही लगाई है और आग लगाने की वजह मोबाइल बताए जा रहे हैं। मोबाइल पड़ोस की रहने वाली लड़की के थे जिन्हें कि वह अपने घर में चार्ज कर रही थी। जिसके लिए वह खुद की गलती मन रही है और किसी को दोषी न मानते हुए खुद को दोषी ठहरा रही है और कह रही है कि मुझसे गलती हो गई, किसी और को मत फंसाओ

मामले में घायल के परिजनों ने बताया कि गांव की ही लड़की गांव के ही 2 लड़कों से फोन पर बात करती थी। उन्हीं ने यह फोन लड़की को दिए थे जो कि उसने मेरी बहन को चार्ज करने को दे दिए। जिन्हें हमने देख लिए और पूछा किसके मोबाइल हैं तो उसने बताया कि यह मोबाइल पास में रहने वाली लड़की के हैं। इस बात को लेकर मैंने अपनी बहन को डांटा और मोबाइल छीनकर अपने पास रख लिए और कथा करने चले गए। जब लौट कर आए तो मोबाइल घर से गायब थे। मैंने बहन गुड्डन से पूछा तो उसने बताने से मना कर दिया। आरोप है कि उन्हें बाद में पता चला कि वह मोबाइल दोनों लड़कों और पड़ोस की लड़की ने बहन से धमकी देकर ले लिए। वे उसे ब्लैकमेल करते थे। मामला बढ़ता और बिगड़ता देख इसने खुद को आग के हवाले कर दिया

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button