छत्तीसगढ़राजनीति

पुनर्वास ग्राम सिरकी की समस्याओं पर SECL को सौंपा ज्ञापन किसान सभा ने

गेवरा (कोरबा)। छत्तीसगढ़ किसान सभा ने पुनर्वास ग्राम सिरकी में सड़क और सफाई के मुद्दे पर आज एसईसीएल SECL को ज्ञापन सौंप कर समस्याओं के जल्द निराकरण की मांग की है। किसान सभा ने चेतावनी दी है कि यदि 15 दिनों में समस्याओं का समाधान होता नहीं दिखा, तो आंदोलन किया जाएगा।

ज्ञापन एसईसीएल के गेवरा महाप्रबंधक रंजन प्रसाद साह को सौंपा गया है। ज्ञापन सौंपने वालों में किसान सभा के जिलाध्यक्ष जवाहर सिंह कंवर के साथ जय कौशिक, दीपक साहू, दामोदर श्याम, रामनाथ परधान, लक्ष्मण कश्यप, मन्नु यादव, हृदय लाल यादव, केवल प्रसाद, उदे राम, गणेश यादव, भैयाराम, छोटू लाल, राजू यादव आदि किसान सभा नेता और ग्रामीण शामिल थे।

आज यहां जारी एक विज्ञप्ति में किसान सभा नेताओं ने बताया कि पुनर्वास ग्राम सिरकी में मुख्य मार्ग पर कोयला लदी बड़ी-बड़ी ट्रकें चलती हैं, जिससे फैले धूल-डस्ट के कारण ग्रामीणों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ रहा है। नियमित रूप से रोड पर पानी का छिड़काव भी नहीं किया जा रहा है। सड़क काफी जर्जर हो गई है और दुर्घटना की संभावना बढ़ गई है। इसी प्रकार, मुख्य मार्ग से रेलवे साइडिंग तक बनी नाली की वर्षों से सफाई नहीं हुई है और दूषित जाम पानी से बीमारी फैलने का खतरा बना हुआ है।

उन्होंने कहा कि इन समस्याओं के बारे में ग्रामीणों ने कई बार एसईसीएल प्रबंधन का ध्यान आकर्षित किया है, लेकिन आश्वसन के सिवा उन्हें कुछ हासिल नहीं हुआ है। किसान सभा नेताओं ने आरोप लगाया है कि एसईसीएल प्रबंधन पुनर्वास गांव सिरकी की समस्याओं के निराकरण को लेकर गंभीर नहीं है और वह इन गांवों के प्रति अपने सामाजिक उत्तरदायित्वों से मुकर रहा है। उसकी नजर केवल कोयला बेचकर मुनाफा कमाने पर है। प्रबंधन के इस ग्रामीण विरोधी रूख के कारण जनता में आक्रोश बढ़ता जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button