Advertisement
छत्तीसगढ़प्रदेश

कांकेर : रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण से खनन प्रभावित युवाओं के जीवन को मिली एक नई दिशा

Advertisement
Advertisement

कांकेर – जिले के खनन प्रभावित क्षेत्रों के बेरोजगार युवकों के भविष्य को बेहतर बनाने एवं उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए कांकेर जिले में उपलब्ध संसाधन एवं रोजगार की संभावनाओं से जिले के युवाओं को सक्षम बनाने लाइवलीहुड कॉलेज कांकेर के द्वारा जिला खनिज एवं न्यास निधि के माध्यम से प्रशिक्षण की व्यवस्था की गई है। लाइवलीहुड कॉलेज कांकेर के माध्यम से जिले के अंतागढ़, दुर्गुकोंदल, भानुप्रतापपुर एवं कोयलीबेड़ा के खनन प्रभावित क्षेत्रों के युवाओं को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। कांकेर जिले के खनन प्रभावित क्षेत्रों के चयनित युवाओं को प्रशिक्षण के दौरान निःशुल्क गणवेश, स्टेश्नरी आदि की सुविधा भी उपलब्ध कराई जा रही है। कलेक्टर श्री चन्दन कुमार द्वारा युवाओं में रोजगार एवं स्व-रोजगार की संभावनाओं को बढ़ाने का पूरा प्रयास किया जा रहा है।

जिले के अंतागढ़, दुर्गुकोंदल, भानुप्रतापपुर एवं कोयलीबेड़ा के खनन प्रभावित क्षेत्र के कुल 540 युवाआें को प्रशिक्षण देने का लक्ष्य रखा गया है, जिसमें लोडर ऑपरेटर, डाटा एन्ट्री ऑपरेटर, सुरक्षा गार्ड और हैवी मोटर व्हीकल ड्राईवर कोर्स में युवाओं को निःशुल्क प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इस प्रशिक्षण के दौरान होने वाली चुनौतियों से डट कर मुकाबला करने की गुर सिखाने हेतु मेहमान प्रवक्ताओं के माध्यम से शिक्षण-प्रशिक्षण हेतु लाइवलीहुड कॉलेज कांकेर निरंतर प्रयासरत् है। प्रशिक्षण कार्यक्रम में युवतियॉ भी बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहीं है। जिले में अब तक 70 युवाओं को सुरक्षा गार्ड और 30 युवाओं को लोडर ऑपरेटर कोर्स में प्रशिक्षित कर उनका रोजगार नियोजन किया जा रहा है, जिसमें 04 युवतियों को सूर्या मॉल भिलाई और 10 युवकों को नंदन स्टील रायपुर में सुरक्षा गार्ड के रूप में सफलता पूर्वक नियोजित किया गया है। अलर्ट सिक्युरिटी रायपुर के द्वारा सुरक्षा गार्ड के लिए 42 प्रशिक्षित युवकों का प्रारंभिक चयन किया है। इस प्रशिक्षण से बेरोजगार युवाओं को रोजगार की नई राह दिखाई गयी एवं उनके बरोजगारी की समस्या दूर की गई है और अब वे अपने परिवारिक जीवन के जिम्मेदारियों को बखूबी निभा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button