प्रदेश
Trending

टेरर फंडिंग मामले में दिल्ली में कई ठिकानों पर J&K की एजेंसी SIA की छापेमारी

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर (J&K) राज्य जांच एजेंसी (SIA) ने रविवार को दिल्ली में कई जगहों पर आतंकी फंडिंग (Terror Funding) मामले में तलाशी अभियान चलाया. एसआईए को हाल ही में आतंकवाद और अलगाववाद से जुड़े मामलों की जांच के लिए गठित किया गया था.

सूत्रों के अनुसार एजेंसी ने एक सूचना के आधार पर इन जगहों पर छापे मारे थे. एजेंसी को जैश-ए-मोहम्मद के ओवर ग्राउंड वर्कर्स और अन्य आतंकवादी संगठन समर्थकों की सूचना मिली थी. एसआईए के छापे की कार्रवाई दिल्ली में ओजीडब्ल्यू (OGW) की मूवमेंट के एक खुफिया इनपुट के बाद की गई है

इस साल फरवरी में, SIA ने दक्षिण और मध्य कश्मीर में छापेमारी के दौरान JeM के 10 OGW को गिरफ्तार किया था. मॉड्यूल के सदस्यों को वर्टिकल के रूप में उप-मॉड्यूल में व्यवस्थित किया गया था. ताकि एक सदस्य का पता चलने की स्थिति में बड़े नेटवर्क से समझौता न हो

कश्मीर घाटी में आतंकवादी घटनाओं में ताजा बढ़ोतरी को लेकर जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने शनिवार को कहा कि डरने की कोई जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि आतंकी हमलों के मद्देनजर सुरक्षा बल सतर्क हैं और हालात से निपटने के लिए रणनीति के तहत काम किया जा रहा है.

उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले में सिन्हा ने कहा कि एक रणनीति के तहत काम हो रहा है, लेकिन वह मीडिया में इसकी चर्चा नहीं कर सकते. सिन्हा ने कहा कि जब कभी कोई बड़ा कार्यक्रम होता है, तो कुछ लोग संदेश देने की कोशिश करते हैं. लेकिन सेना, पुलिस और अर्द्धसैनिक बल के जवान चौकन्ना हैं, इसलिए डरने की जरूरत नहीं है

घाटी में मंदिरों के जिर्णोद्धार के सवाल पर उपराज्यपाल ने कहा कि इस दिशा में लोग सरकार का इंतजार किए बगैर खुद आगे आए हैं. उन्होंने कहा कि किसी भी धर्म से संबंधित धार्मिक स्थलों को अच्छी तरह से रखना जरूरी है, चाहे वह मंदिर, मस्जिद, गुरद्वारा या गिरजाघर हो. सिन्हा ने कहा कि श्रीनगर में हाल ही में लंबे समय से बंद पड़े एक चर्च के अलावा मंदिरों और मस्जिदों का भी पुनरुद्धार किया गया. मंदिरों में तोड़फोड़ के सवाल पर सिन्हा ने कहा कि इस मामले में कार्रवाई की गई है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button