छत्तीसगढ़
Trending

अमित जोगी की अगुवाई में JCCJ के कार्यकर्ता अगले सप्ताह हसदेव कूच करेंगे और विराट विरोध प्रदर्शन करेंगे

रायपुर: विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) (JCCJ) ने आज पार्टी अध्यक्ष अमित जोगी के नेतृत्व में एक अनोखा प्रदर्शन किया और प्रधानमंत्री और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी जी से “हसदेव बचाने” की अपील की।बड़ी संख्या में उपस्थित पार्टी के कार्यकर्ताओं ने रायपुर में सिविल लाइन्स स्थित अमर शहीद वीर नारायण सिंह के स्मारक के चारों ओर वृक्षारोपण किया “हसदेव बचाने” की शपथ ली ।

इस विषय में जानकारी देते हुए अमित जोगी ने कहा कि अमर शहीद वीर नारायण सिंह गोंड जनजाति के थे और छत्तीसगढ़ की जमीन और जंगल बचाने अंग्रेजों से लड़ते-लड़ते अमर हो गए । छत्तीसगढ़ के महान प्रथम स्वतंत्रता सेनानी के जीवन से प्रेरणा लेकर ही आज विश्व पर्यावरण दिवस पर उनके स्मारक में वृक्षारोपण कर, हम हसदेव अरण्य में चल रहे अवैध खनन, अवैध जंगल कटाई, वहां गोंड एवं अन्य आदिवासियों भाई-बहनों पर हो रहे अत्याचार और जांजगीर जिले के किसानों को भविष्य में होने वाली पानी की कमी का विरोध कर रहे हैं और इसी संदर्भ में शहीद वीर नारायण सिंह जी के स्मारक में पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा “हसदेव बचाने” की शपथ ली गयी।

अमित जोगी ने हसदेव अरण्य की कटाई के मामले को बहुत संघीन बताते हुए कहा कि 6 अप्रैल, 2022 को छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा कोयले की माइनिंग के लिए जंगल की कटाई को मंजूरी देने से केवल हसदेव अरण्य नहीं बल्कि पूरे छत्तीसगढ़ पर विपदा आ चुकी है ।

हसदेव अरण्य लगभग 350 विभिन्न प्रकार के पशु-पक्षियों का घर है, जनजातियों और हाथियों का संरक्षित वनक्षेत्र है। इसके अलावा हसदेव नदी से पूरे जांजगीर-चांपा जिले का कृषि क्षेत्र सिंचित होता है। छत्तीसगढ़ के लाखों किसानों का भविष्य हसदेव अरण्य पर निर्भर है। जोगी ने कहा कि अगर खनन का काम नहीं रुका तो 4000 वर्ग किलोमीटर में फैला हसदेव अरण्य 400 वर्ग किलोमीटर में सिमट जायेगा।

अमित जोगी ने एक वीडियो मैसेज के माध्यम से प्रधानमंत्री जी से निवेदन किया कि प्रधानमंत्री जी ने नवंबर 2021 में कॉप-26 सम्मेलन में यह शपथ ली थी कि भारत 2030 तक सौ करोड़ टन कार्बन उत्सर्जन को घटाएगा और इधर अडानी की कोयला खदान के लिये हसदेव अरण्य में बीस हज़ार से ज़्यादा, सदियों पुराने पेड़ों को काटा जा रहा है।

वहीँ राहुल गाँधी को भी उनका वादा याद दिलाते हुए अमित जोगी ने निवेदन किया कि 2015 में कोरबा जिले के मदनपुर गाँव में भरी सभा में राहुल गाँधी जी ने वादा किया था कि हसदेव में खनन नहीं होगा। और अब उन्ही की कांग्रेस सरकार ने हसदेव अरण्य की बलि चढ़ा दी । अमित जोगी ने कहा कि राष्ट्रीय दलों के बड़े नेताओं और सत्ता में बैठे लोगों की कथनी और करनी में अंतर संवैधानिक और लोकतांत्रिक मूल्यों का मजाक बनाना है।

अमित जोगी ने कहा कि दोनों राष्ट्रीय दल एक होकर हसदेव अरण्य का सफाया कर रहे हैं। राष्ट्रीय दलों के बड़े नेताओं के समक्ष, छत्तीसगढ़ के स्थानीय नेता कुछ भी बोल पाने में असमर्थ हैं। सबको अपनी कुर्सी की चिंता है। अगर छत्तसीगढ़ में क्षेत्रीय दल की सरकार होती तो वो ज्यादा जवाबदारी से लोकहित में कार्य करती। अमित जोगी की अगुवाई में आने वाले सप्ताह में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में हसदेव कूच करेंगे और वहाँ आंदोलन कर रहे साथियों के साथ विराट विरोध प्रदर्शन करेंगे ।

Related Articles

Back to top button