राष्ट्रीय

Jan Aushadhi Diwas: पीएम मोदी कल जन औषधि केंद्र के मालिकों और लाभार्थियों से करेंगे बात

पूरे देश में हर साल 7 मार्च को जन औषधि दिवस (Jan Aushadhi Diwas) मनाया जाता है. पीएमओ ने बताया कि इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दोपहर 12:30 बजे जन औषधि के लाभार्थियों के साथ-साथ जन औषधि केंद्र मालिकों से बातचीत करेंगे. उसके बाद पीएम का संबोधन होगा.

दरअसल, देशवासियों के लिए गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा (Health care) को सस्ती बनाने की दिशा में केंद्र सरकार हर मुमकिन प्रयास कर रही है. प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना के माध्यम से लोगों के बीच सस्ती और गुणवत्ता वाली जेनेरिक दवाओं को लोकप्रिय बनाने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठा रहे हैं. जन औषधि केंद्रों को देशभर में बढ़ावा देने के लिए 1 से 7 मार्च तक जन औषधि सप्ताह मनाया जा रहा है

जन औषधि दिवस का मुख्य कार्यक्रम 7 मार्च को विज्ञान भवन, नई दिल्ली में आयोजित किया जाएगा. इस कार्यक्रम में केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण और रसायन और उर्वरक मंत्री, डा मनसुख मंडाविया और रसायन और उर्वरक राज्य मंत्री, श्री भगवंत खुबा इस कार्यक्रम में शिरकत करेंगे.केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडवीया ने जन औषधि केंद्र के बारे में बताते हुए कहा था कि,

सभी को सस्ती दवाएं उपलब्ध कराने के लिए भारत में करीब 8,600 जन औषधि केंद्र चल रहे हैं. इसे बढ़ावा देने के लिए 1 से 7 मार्च तक जन औषधि सप्ताह मनाया जा रहा है. इन केंद्रों से लाखों लोग सस्ते दामों पर दवाएं खरीदते हैं.’ उन्होंने जेनेरिक दवाओं के उपयोग के बारे में और अधिक प्रोत्साहन देने और जागरूकता पैदा करने की बात कही थी

फार्मास्युटिकल्स एंड मेडिकल डिवाइसेस ब्यूरो ऑफ इंडिया (पीएमबीआई) देश भर में विभिन्न स्थानों पर सप्ताह भर चलने वाले समारोहों का आयोजन कर चौथा जन औषधि दिवस मनाने जा रहा है. इस चौथे जन औषधि दिवस की इस साल की थीम ‘जन औषधि-जन उपयोगी’ रखी गई है. इससे जेनेरिक दवाओं के उपयोग और जन औषधि परियोजना के लाभों के बारे में जागरूकता पैदा होगी

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री जनऔषधि योजना प्रधानमंत्री ‪नरेंद्र मोदी द्वारा 1 जुलाई 2015 को घोषित एक खास योजना है. इस योजना में सरकार द्वारा उच्च गुणवत्ता वाली जेनरिक दवाइयां बाजार मूल्य से कम कीमत पर उपलब्ध कराई जाती हैं. इसके लिए सरकार द्वारा ‘जन औषधि स्टोर’ बनाए गए हैं, जहां जेनरिक दवाइयां उपलब्ध करवाई जाती हैं. इस योजना का लक्ष्य देश के हर ब्लॉक में कम से कम एक पीएमबीजेपी केंद्र खोलने का है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button