छत्तीसगढ़प्रदेश
Trending

बदल रहा बस्तर बोल रही तस्वीर में आज हम एक एैसे समर्पित नक्सली के बारे में बतायेंगे जिसे अब राष्ट्रपति अवार्ड से नवाजा जायेगा

राजा कोष्टा: छत्तीसगढ़ जगदलपुर बस्तर मुख्यालय से 90 किलोमीटर दुर दक्षिण बस्तर दन्तेवाड़ा जहां एक समर्पित नक्सली ने समर्पण करने के बाद बस्तर पुलिस के लिये नक्सलियों के खिलाफ बडी-बडी सफलताये ं दिलायी और लगातार समर्पित नक्सली को पाॅच बार प्रमोशन मिला और आज वह अपने कंधे पर 03 स्टार लगाये शरीर मे ंखाकी वर्दी हाथ में एके 47 और नक्सलियों की तलाश करते है। हमारा सफर शुरू होता है जगदलपुर से 90 किलो मीटर दुर दक्षिण बस्तर के दन्तेवाड़ा में जहां हम उस समर्पित नक्सली से आपकी मुलाकात करायेगें दक्षिण बस्तर पहुॅचने के बाद हमारी मुलाकात हुई समर्पित नक्सली और निरीक्षक संजय पोटाम उर्फ बदरू जहां डी.आर.जी की पुरी टीम को नेतृत्व करते है

आज भी दन्तेवाड़ा पहुॅचने के बाद डी.आर.जी. के जवानों को नक्सलवाद के खात्मे के लिये AK 47 चलाने की ट्रेनिंग व उनसे लड़ने के लिये समझाईस देते दिखाई दिये संजय पोटाम उर्फ बदरू के बारे में अब हम आपको बताते है। संजय पोटाम उर्फ बदरू ग्राम पुसनार थाना गंगालुुर जिला बीजापुर के रहने वाले है इन्होने पाॅचवी तक पढाई भी की है जब इन गांव में विकास नही था और नक्सली का आनाजाना इनके गांव में लगा रहता था वही बदरू भी नक्सलियों की विचारधारा समझते हुए नक्सली संगठन में शामिल हुआ करीब 07 साल नक्सलियों के साथ रहते हुए इसने बडी-बडी घटनाओं को अंजाम दिया था

इसके बाद बदरू को दरभा डिवीजन का कमांडर भी बनाया गया था कमांडर पद में रहने के बाद दरभा डिवीजन के नक्सली बदरू से भेदभाव करने लगे थे इसी कारण से संजय पोटाम ने नक्सली की खोखली विचारधारा को छोडकर वर्ष 2013 में बस्तर पुलिस के सामने समर्पण किया और इच्छा जाहिर किया की वह पुलिस में भर्ती होकर नक्सली के खिलाफ एक बडी लडाई भी लडुगा और हुआ भी वही समर्पण करने के बाद नक्सलियों की कमर तोडने में संजय पोटम ने अहम भुमिका निभाई। संजय पोटाम के काम से खुश होकर पुलिस प्रशासन के द्वारा लगातार 05 प्रमोशन मिले और आज वह निरीक्षक बन डी.आर.जी. के पुरी टीम को लीड करते है और नक्सलियों का उनके इलाके से नक्सलवाद का खात्मा लगभग होते जा रहा है।

संजय ने बस्तर अंदरूनी इलाके में एक के बाद एक कई नक्सलियों को मार गिराया और उन्होने प्रमोशन में प्रमोशन मिलता रहा निरीक्षक रहने के समय भी नक्सलियों के साथ एक मुठभेंड हुयी थी और 08 नक्सलियों को मार गिराया था। इसके बाद संजय के नाम को पुलिस अधीक्षक दन्तेवाड़ा अभिषेक पल्लव द्वारा पुलिस महानिदेशक छत्तीसगढ रायपुर से अनुशंसा के आधार पर राष्ट्रपति पदक हेतु दिल्ली प्रस्ताव भेजा गया जिनका आगामी समय में सम्मानित किया जाना प्रस्तावित है। संजय पोटाम उर्फ बदरू को राष्ट्रपति आवार्ड से सम्मानित करने घोषणा होने से संजय पोटाम उर्फ बदरू बहुत उत्साहित और गौरान्वित महसुस कर रहा है उन्होने बताया की उनके साथियों को भी समर्पण कर अपने जैसे जिंदगी जीने को कहा है।

वही दक्षिण बस्तर दंतेवाडा के पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव ने बताया की संजय पोटाम उर्फ बदरू के उपर 08 लाख का ईनाम घोषित था जो की दरभा डिवीजन का कमांडर था 2012-2013 में समर्पण किया और 2014 से पुलिस विभाग में गोपनीय सैनिक के पद पर भर्ती होकर अपना काम उत्साह से करते हुए लगातार 05 वर्षों में 05 बार प्रमोशन लेकर आज निरीक्षक पद तक पहुॅचे इसने दंतेवाडा में लगभग 50 से ज्यादा मुठभेडें नक्सलियों के साथ किया है जिसमें की 100 से ज्यादा नक्सली मारे गये है। जो नक्सली मारे गये है उनके उपर 05 करोड से उपर ईनामी नक्सली मारे गये या गिरफ्तार किये गये है वही अभिषेक पल्लव ने सभी माओवादियों से आव्हान किये है की समर्पण कर अच्छी जिदंगी संजय पोटाम जैसा जिये और पुलिस में भर्ती होकर निरीक्षक के पद तक जाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button