अपराधप्रदेश

Crime News: 9 साल की बच्ची के साथ बेरहमी से दुष्कर्म कर हत्या

Crime News: ग्वालियर। जिस 9 साल की बच्ची के साथ बेरहमी से दुष्कर्म कर हत्या कर दी गई, उसकी मासूम हथेलियां उसका दर्द बयां कर रही थीं। हथेलियों के अंदर भींची हुई अंगुलियां, उनमें फंसे आरोपित के बाल और नाखूनों में लगा खून- यह सबूत है हैवानियत का, उसके दर्द का। यह हालात बता रहे हैं, वह दर्द से झटपटा रही थी, खुद को हैवान से बचाने के लिए संघर्ष करती रही, लेकिन उसका दिल नहीं पसीजा। हालात बता रहे हैं कि जब मासूम बच्ची खुद को बचाने संघर्ष करने लगी, तब आरोपित ने उसे मार डाला।

जिसने बच्ची की यह हालत देखी, उसकी आंख से आंसू निकल पड़े। पिता लाश देखकर बेहोश हो गए। रात भर से पुलिस बच्ची की तलाश कर रही थी। मंगलवार सुबह जब उसकी लाश मिली तब फोरेंसिक एक्सपर्ट डा.अखिलेश भार्गव को बुलवाया गया। फिंगर प्रिंट टीम भी पहुंची। जब यहां फोरेंसिक टीम ने पड़ताल की तो बच्ची की हथेलियों के बीच आरोपित के बाल मिल गए, यह बाल अंगुलियों के बीच फंसे हुए थे। उसके दो अंगुलियों के नाखून में खून लगा था। यह हालात देखकर पुलिस अफसरों का अनुमान है कि बच्ची जब खुद को बचाने के लिए झटपटाई होगी तो उसने संघर्ष भी किया होगा।

मोतियों की माला भी टूटी पड़ी थी, लाश के पास मोती बिखरे पड़े थे। बच्ची का मुंह और सिर बुरी तरह कुचला हुआ था, हत्या हुए 36 घंटे से अधिक का समय हो चुका था, इसलिए लाश सड़ने लगी थी। पिता और दादा ने जैसे ही शव देखा तो फफक-फफक कर रो पड़े। पुलिस अफसरों ने इन्हें संभाला और सांत्वना दी कि हैवानियत करने वाले आरोपित को कड़ी से कड़ी सजा दिलाएंगे। अब यही बाल और नाखून बनेंगे सबूत, यही दिलाएंगे सजा: जो बाल और नाखून में मिला खून है, वही साक्ष्य बनेंगे। यही आरोपित को सजा दिलाएंगे। पुलिस अफसरों का कहना है कि इनसे आरोपित के पकड़ने के बाद डीएनए टेस्ट कराया जाएगा, जिससे आरोपित किसी भी स्थिति में बच नहीं सकता।

साथ में खेल रही थी परी, बाबा बोले- आइसक्रीम दिलाएंगेः मैं और परी साथ में मंदिर के पास खेल रहे थे। मोहल्ले के और भी बच्चे यहां पर खेल रहे थे, तभी कल्लू बाबा आए, कुछ देर बैठे रहे, हमें देखते रहे। फिर बोलने लगे चलो आइसक्रीम दिलाऊंगा। मैंने मना कर दिया, लेकिन परी परिवर्तित नाम साथ में चली गई। मैं उसे रोकता रहा, लेकिन बाबा यहां आकर चीज दिलाते थे तो परी हाथ पकड़कर चली गई। मैं यहीं पर खेलता रहा, लेकिन परी लौटकर नहीं आई। मैं दूर तक देखने गया, लेकिन दिखी नहीं। मैं घर चला गया। तब मम्मी ने पूछा तो बताया, वो बाबा के साथ गई है। बाबा जब भी आते थे, परी को गोद में बैठा लेते थे। वो गंदी बात भी करते थे

Show More

Support Us!

‘प्रबुद्ध जनता समाचार’ जनवादी पत्रकारिता करता है, यह संविधान, लोकतंत्र और सामाजिक न्याय पर चलने वाला एक डिजिटल मीडिया है जो आपके लिए लेकर आता है तत्काल की लेटेस्ट खबरे, विचार, कहानियाँ और इसे हम तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग और लेखन के लिए हमारा सहयोग करें।

Related Articles

Back to top button