छत्तीसगढ़प्रदेश

Commissioner ने दिये नोडल अधिकारियों को धान खरीदी केन्द्रों का सतत निरीक्षण करने के निर्देश

Advertisement
Advertisement

कांकेर – राज्य सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर 01 दिसम्बर से धान खरीदी प्रारंभ किया गया है। बस्तर संभाग के कमिश्नर (Commissioner) श्री जी.आर. चुरेन्द्र ने धान खरीदी के लिए बनाये गये नोडल अधिकारियों का बैठक लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दिये। उन्होंने समीक्षा करते हुए कहा कि धान खरीदी केन्द्रां में प्रतिदिन निरीक्षण कर अवैध रूप से बेचे जाने वाली धान को जप्त करने की कार्यवाही सुनिश्चित करें तथा बिचौलियों द्वारा खरीदे गये धान को किसानों के माध्यम से धान उपार्जन केन्द्र में बिक्री करने का प्रयास करते हैं, उन्हें रोकने के लिए निर्देश दिये।

कमिश्नर श्री चुरेन्द्र ने धान खरीदी केन्द्र में नमी मापक यंत्र, बारदाने, बिजली, पानी, शौचालय इत्यादि का व्यवस्था एवं खरीदी केन्द्रों में सप्ताह में एक दिन साफ-सफाई जन भागीदारी से कराना सुनिश्चित करने के लिए नोडल अधिकारियों को निर्देशित किये। उन्होंने नोडल अधिकारियों से कहा कि गांवों में छोटे-छोटे बिचौलियों द्वारा धान खरीदी किया जाता है, उन्हें मंडी एक्ट के तहत् लायसेंस बनाने हेतु पंजीयन कराकर लायसेंस जारी करवायें ताकि अवैध धान विक्रय को रोका जा सके। उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि धान खरीदी केन्द्र में अवैध रूप से बिक्री की जाने वाली धान का जप्तिनामा प्रकरण नहीं बना है, प्रकरण बनाना सुनिश्चित करें।  

कमिश्नर श्री चुरेन्द्र ने मंडी प्रांगण में राईस मिलर्स और व्यापारियों का बैठक लेकर धान उठाव संबंधी विस्तृत चर्चा करने की बात कही। किसानों को धान खरीदी के लिए बारदाने की व्यवस्था अधिक से अधिक करने के लिए प्रेरित करें, ताकि धान खरीदी आसानी से संपन्न कराई जा सके। उन्होंने जिला विपणन अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि धान का उठाव समय-सीमा में पूर्ण कराना सुनिश्चित करें। कमिश्नर ने धान खरीदी केन्द्र में प्रतिदिन प्रातः 09 बजे से ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी और हल्का पटवारी की ड्यूटी लगाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सबसे पहले लघु किसानों का धान एक बार के टोकन में बिक्री कराकर उनसे दुबारा धान नहीं बेचने का प्रमाण-पत्र भी लें। सीमान्त किसानों के धान बिक्री के पश्चात् ही 05 एकड़ से अधिक रकबा वाले किसानों का धान खरीदने के लिए टोकन जारी करें, जिससे किसानों को धान बिक्री करने में सहूलियत मिलेगा।

बैठक में अपर कलेक्टर श्री एस.पी. वैद्य, संयुक्त कलेक्टर श्री जी.आर. नाग, एसडीएम कांकेर डॉ. कल्पना धु्रव, चारामा के.एस. पैकरा, तहसीलदार कांकेर आनंद नेताम, भानुप्रतापपुर सुरेन्द्र कुमार उर्वशा, जनपद सीईओ कांकेर अश्विनी यादव, भानुप्रतापपुर के विश्वास कुमार, नरहरपुर सीईओ पी.के. गुप्ता, खाद्य अधिकारी टी.आर. ठाकुर सहित समस्त नोडल अधिकारी उपस्थित थे।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button