उत्तर प्रदेश

गोरखपुर की घटना के बाद CM योगी सख्त! गंभीर अपराधों में शामिल पुलिस अधिकारी होंगे बर्खास्त

गोरखपुर (Gorakhpur Police) के एक होटल में व्यापारी मनीष गुप्ता (Manish Gupta Murder) के साथ पुलिस बर्बरता और मौत के मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Aditya Nath) ने सख्ती जाहिर की है. सीएम योगी ने गुरुवार को मनीष गुप्ता के परिवार से बातचीत की जिसके बाद शव का अंतिम संस्कार करने के लिए पत्नी मीनाक्षी तैयार हो गयीं. सीएम ने सख्त रवैया अपनाते हुए ऐसे पुलिसकर्मियों को बर्खास्त करने के आदेश दिए हैं जो कि गंभीर अपराधों में शामिल रहे हैं या जिन पर गंभीर आरोप हैं. इसके आलावा अपराधों में आरोपी पुलिसकर्मियों को महत्वपूर्ण पदों पर तैनाती न दिए जाने के आदेश भी दिए हैं.

सीएम योगी ने आदेश दिया है कि हाल के दिनों में कई पुलिस अधिकारियों/कार्मिकों के अवैध गतिविधियों में संलिप्त होने की शिकायतें मिली हैं, यह कतई स्वीकार्य नहीं है. पुलिस विभाग में ऐसे लोगों के लिए कोई स्थान नहीं होना चाहिए. प्रमाण पत्रों के साथ ऐसे लोगों की एक लिस्ट तैयार कर उपलब्ध कराई जाए. इन सभी के विरुद्ध नियमानुसार कार्रवाई की जाए. अति गंभीर अपराधों में लिप्त अधिकारियों/कार्मिकों की बर्खास्तगी की जाए और दागियों को महत्वपूर्ण पदों पर तैनाती न दी जाए

गुरुवार को सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव भी कानपुर में पीड़ित परिवार से मिलने के लिए पहुंचे. परिवार से मुलाक़ात के बाद उन्होंने सरकार से मामले की जांच हाइकोर्ट के सिटिंग जज से कराने की मांग की है. अखिलेश ने कहा कि जब तक बीजेपी की सरकार रहेगी ऐसे मामलों का सच सामने नहीं आ पाएगा. पुलिस गलत काम कर रही है और सरकार उसे रोक नहीं पा रही है. इसी के साथ अखिलेश ने सपा की तरफ से परिवार को 20 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है और सरकार से 2 करोड़ रुपए की सहायता देने की मांग की है. सपा ने मांग की है कि परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी दी जाए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button