Advertisement
छत्तीसगढ़प्रदेश
Trending

छत्तीसगढ़: विधायक के समर्थकों ने आबकारी विभाग में घुसकर अधिकारियों के सामने कम्प्यूटर आपरेटर को पीटा

रायपुर । संसदीय सचिव और महासमुंद के विधायक के समर्थकों ने आबकारी विभाग में घुसकर अधिकारियों के सामने कम्प्यूटकर आपरेटर लीला राम साहू की जमकर कुटाई कर दी। जिससे लीलाराम लहूलुहान हो गया। जिले के आबकारी शाखा में पदस्थ कम्प्यूटर ऑपरेटर से कांग्रेस के पार्षद और एक व्यक्ति ने मारपीट की है। इसके बाद कर्मचारी ने कांग्रेस विधायक और उनके समर्थकों पर मारपीट का आरोप लगाया है। वहीं विधायक का कहना है कि उसका इस घटनाक्रम से कोई वास्ता नहीं है। कर्मचारी की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने बबलू हरपाल और दीपक ठाकुर को गिरफ्तार किया है।

बबलू हरपाल वार्ड क्रमांक 6 से पार्षद है। पुलिस को सौंपे गए शिकायत पत्र में लीलाराम साहू पिता शोभाराम साहू ने बताया कि वह सीएसएमसीएल का कर्मचारी है और आबकारी शाखा में लिपिक के रूप में पदस्थ है। सोमवार की दोपहर 2.15 बजे वह कार्यालय में अन्य कर्मचारियों के साथ काम कर रहा था। इतने में विधायक कार्यकर्ता दीपक ठाकुर, बबलू हरपाल सहित अन्य व्यक्तियों के साथ भीतर आए और मुझसे पूछा कि तुम कौन हो। मैंने अपना परिचय दिया तो वे लोग मुझसे मारपीट करने लगे। दीपक ठाकुर अन्य अज्ञात व्यक्तियों ने मुझ पर जानलेवा हमला किया। इससे मुझे सिर पर गंभीर चोट आई और खून बहने लगा। इसके बाद अधिकारियों ने बीच-बचाव किया। कर्मचारी ने मामले में संबंधित सभी लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है

घटना के बाद मौके पर मौजूद सहायक जिला आबकारी अधिकारी रविकांत जायसवाल और सहायक आयुक्त आबकारी विजय सेन शर्मा मौके पर पहुंचे। इसके बाद हमला करने वाले लोगों से कर्मचारी को बचाया गया। घटना के बाद अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेंभुरकर को मामले की जानकारी दी गई। उन्होंने मुलाहिजा के लिए जिला अस्पताल भेजा और गंभीर चोट को देखते हुए लीलाराम को रायपुर रेफर कर दिया गया है। इधर, इस मामले को लेकर आबकारी विभाग के किसी भी अफसर का कोई बयान सामने नहीं आया है। मामले को लेकर असिस्टेंट कमिश्नर आबकारी विजय सेन शर्मा से संपर्क किया गया, लेकिन उनका फोन बंद रहा।

इस मामले में कलेक्टर डोमन सिंह का कहना है कि मामला पुलिस से संबंधित है और पुलिस इसकी जांच कर रही है। वहीं इस मामले में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेंभुरकर ने कहा कि मामला संज्ञान में आया है और इसमें दो लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है

वहीं इस मामले में विधायक के अलग अलग बयान सामने आ रहे हैं। एक मीडिया कर्मी से उसने कहा कि इस घटनाक्रम से उसका कोई वास्ता नहीं है। दिशा की बैठक मंगलवार को थी। इसलिए मैं कलेक्टोरेट में मौजूद था। एक अन्य मीडिया कर्मी से कहा कि वह घटन के दौरान बीच-बचाव कर रहा था

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button