छत्तीसगढ़
Trending

Chhattisgarh: ऑनलाइन ठगी मामले में पुलिस ने तीन आरोपितों को किया गिरफ्तार

Chhattisgarh: पेंड्रा। फर्जी बैंक अधिकारी बनकर 99 हजार 972 एवं 74 हजार 447 रुपये की धोखाधड़ी मामले में पुलिस ने तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। घटना में प्रयुक्त मोबाइल जब्त किया गया है। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में घटित धोखाधड़ी के अपराधों पर अंकुश लगाने तथा फरार आरोपितों की

गिरफ्तारी के संबंध में पुलिस अधीक्षक त्रिलोक बंसल द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अर्चना झा एवं अनुविभागीय अधिकारी पुलिस अशोक वाडेगांवकर के नेतृत्व में थाने में लंबित धोखाधड़ी के अपराधों की समीक्षा कर प्रकरण में फरार आरोपितों की पतासाजी के लिए थाने एवं साइबर सेल की टीम गठित कर आरोपितों के संबंध में सूचना संकलन किया गया

थाना मरवाही में धारा 420 भादवि के प्रकरण में अज्ञात आरोपितों मोबाइल नंबर धारक 9078910136 के द्वारा पीड़ित को बैंक अधिकारी होने का झांसा देकर कैश बैक मिलने का लालच देकर एप डाउनलोड कराकर प्रार्थी के बैंक खाते से अलग-अलग नौ किस्तों में कुल 99 हजार 972 निकाल लिया था।

इसी प्रकार थाना गौरेला में धारा 420, 34 भादवि के प्रकरण में अज्ञात आरोपितों मोबाइल धारक 7489671162 के द्वारा पीड़ित के मोबाइल नंबर में फोन करके केश बैक की राशि खाते में ट्रांसफर कर 74 हजार 447 रुपये का आनलाइन रकम ट्रांसफर कर धोखाधड़ी किया था। प्रकरणों में अज्ञात आरोपितों की लगातार पतासाजी की जा रही थी। साइबर सेल की टीम के द्वारा उक्त दोनों मोबाइल धारकों का तकनीकी जानकारी लेकर झारखंड के जिला देवधर से आरोपितों की शिनाख्त की गई

आरोपितों से घटना में प्रयुक्त दो मोबाइल एवं 12 फर्जी सिम कार्ड जप्त किए गए है। धोखाधड़ी की गई रकम को आरोपितों के द्वारा खर्च करना बताये। उक्त आरोपित को घटना में संलिप्त पाए जाने पर गिरफ्तार किया गया है। पकड़े गए आरोपितों में मोहम्मद इनामुल हक पिता कयामुद्दीन अंसारी (24) निवासी खगड़ा थाना कुंडा जिला देवधर झारखंड, कपिल देव दास पिता भवदेव दास (25) निवासी राजाडीह थाना जसीडीह जिला देवधर, अनिल कुमार दास पिता भवदेव दास (23) निवासी ग्राम राजाडीह थाना जसीडीह जिला देवघर झारखंड शामिल हैं।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button