छत्तीसगढ़

Chhattisgarh: बस्तर रेल आंदोलन के सदस्यों ने मलकानगिरी में केंद्रीय रेल मंत्री से की मुलाक़ात

Chhattisgarh: राजा कोष्टा: जगदलपुर बस्तर रेल आंदोलन के सदस्यों ने मलकानगिरी (उड़ीसा) में केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से मुलाक़ात की तथा ज्ञापन सौंपा।प्रतिनिधि मंडल ने बस्तर में रेल सुविधाओं में लगातार हो रही अनदेखी के सम्बंध में चर्चा कर इसे शीघ्र पूर्ण करने हेतु कहा।आंदोलन के सदस्यों ने जब दल्ली राजहरा-जगदलपुर रेल मार्ग की बात उठाई तो रेल मंत्री ने कहा कि इस लाइन का काम तो स्वीकृत है, तब उन्हें ये बताया गया कि इस लाइन हेतु 96-97 से स्वीकृत होने के बावजूद काम नहीं हुआ, फिर 2007 में पुनः स्वीकृति के बावजूद काम नहीं हुआ,

फिर 2015 में प्रधानमंत्री जी की घोषणा के बावजूद अब तक काम नहीं हुआ है जबकि बस्तरवासियों की यह कई दशकों पुरानी मांग है।ये सब बताए जाने पर उन्होंने तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों से पूर्ण जानकारी उपलब्ध करवाने को कहा। रेल मंत्री वैष्णव को आंदोलन के सदस्यों ने यह भी पूछा कि अरबों रुपए लौह अयस्क से व ढुलाई से मिलने के बावजूद वहाँ के विकास में विभाग पीछे क्यों है? तब उन्होंने इस संबंध में पूरी जानकारी लेकर कार्यवाही की बात कही।

आंदोलन के सदस्यों द्वारा रेल मंत्री से बस्तर आकर वास्तविक स्थिति से अवगत होने का निवेदन करने पर उन्होंने कहा कि जल्द ही वे बस्तर आएँगे। बस्तर रेल आंदोलन के सदस्यों को रेल मंत्री के मलकानगिरी आने की जानकारी मिलने पर दस सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने मलकानगिरी जाकर वैष्णव से मुलाक़ात की व ज्ञापन सौंपा।प्रतिनिधि मंडल में दशरथ कश्यप, मनीष शर्मा, किशोर पारख, संपत झा, रोहित बैस, किशोर दुग्गड, भँवर बोथरा, श्याम सोमानी, विमल बोथरा, सुनील दंडवानी शामिल थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button