छत्तीसगढ़

Chhattisgarh: Bhupesh Baghel सरकार के बेहतरीन नीतियों के कारण सबसे कम बेरोजगारी छत्तीसगढ़ में

Chhattisgarh: रायपुर। मोदी सरकार की कुनीतियों ने देश को हर दिन बेतहाशा बढ़ती मंहगाई और लगातार घटती आय के दुष्चक्र में फंसा दिया है। प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता वंदना राजपूत ने केंद्र के सरकार के नीतियों पर सवाल उठाते हुए कहा कि केंद्र सरकार के गलत नीति के कारण देश में बेरोजगारी दर बढ़ती जा रही है।

सेंटर फॉर मॉनीटरिंग इंडियन इकोनॉमी (ब्डप्म्) द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, देश में बेरोजगारी दर अप्रैल महीने में बढ़कर 7.83 फीसदी पर पहुंच गई। इससे पिछले मार्च महीने में यह 7.60 फीसदी पर थी। देश में बेरोजगारी की समस्या कम होने के बजाय लगातार बढ़ती जा रही है। इस बात का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि अप्रैल महीने देश की बेरोजगारी दर बढ़कर 7.83 फीसदी पर पहुंच गई।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता वंदना राजपूत ने कहा कि देश में लगातार बेरोज़गारी की तूफानी दर बढ़ती जा रही है यदि कोई राज्य तूफान में भी उम्मीद का दिया जलाये हुए हैं तो वह है छत्तीसगढ़ कांग्रेस सरकार। इस आदिवासी बहुल राज्य की कांग्रेस सरकार ने अपने बेहतरीन नीतियों, कार्यकुशलता, संवेदनशीलता और गुड गवर्नेंस के बलबूते जो हासिल किया है, न वो केवल मोदी सरकार बल्कि देश के बाकी राज्यों के लिए भी एक नजीर है, देश में राष्ट्रीय बेरोज़गारी के दर भयावह होती जा रही है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता वंदना राजपूत ने कहा कि राज्य सरकार तमाम विपरीत हालातों के बावजूद छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार में छत्तीसगढ़ में बेरोज़गारी दर मात्र 0.6 पर्सेंट दर बनी हुई है जो देश में सबसे कम है। ऐसा संभव हो पाया छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार की कोविड की पहली लहर के तुरंत बाद से लागू नीतियों की वजह से है। भूपेश बघेल के सरकार ने एक तरफ से समय-समय में सरकारी नौकरियों के दरवाजे खुले रखे तो दूसरी तरफ कम पढ़े लिखे या जो नहीं पढ़ पाए हैं

ग्रामीण और आदिवासियों के लिए वैकल्पिक आय के स्रोत उपलब्ध कराएं। इससे ना केवल छत्तीसगढ़ निवासी कोरोना की दूसरी और तीसरी लहर का मजबूती से सामना कर पाए, बल्कि देश भर में घटती आए के ट्रेड के विपरीत मज़बूती से टिके रहे। नारों और शोर में यकीन नहीं करती धरातल पर काम कर नतीजे लाती है कांग्रेस सरकार।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button