मनोरंजन
Trending

नथ ज़ेवर या ज़ंजीर ‘ के हल्दी सीक्वेंस में चाहत पाण्डेय हुईं इमोशनल

अनिल बेदाग़-
मुंबई : दंगल टीवी के लोकप्रिय टेलीविजन धारावाहिक ‘नथ ज़ेवर या ज़ंजीर ‘ में महुआ की भूमिका में नज़र आ रहीं अभिनेत्री चाहत पाण्डेय आने वाले हल्दी सीक्वेंस की शूटिंग के दौरान बेहद भावुक हो गईं। शम्भु (अर्जित तनेजा) और बूंदी (वैभवी कपूर) के ‘हल्दी’ सीक्वेंस के दौरान कुछ ऐसा होता है कि महुआ अपने इमोशंस को कंट्रोल नहीं कर पाती हैं और उनकी आंखों से आंसू की बूंदें निकल आती हैं।     

मुम्बई में दंगल टीवी के चर्चित शो नथ ज़ेवर या ज़ंजीर की शूटिंग के दौरान चाहत पाण्डेय ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि कहते हैं कि जो किस्मत में लिखा होता है वही होता है। जोड़ी भी ऊपरवाला बनाता है। मैं अपनी बहन को हल्दी लगाने के लिए आई थी। शंभु और बूंदी की शादी हो रही है लेकिन गलती से हल्दी मुझे और शंभू को लग जाती है। उसके बाद शो में क्या ड्रामा होता है, इसके लिए आपको यह सीरियल देखना पड़ेगा। मेरे शो और मेरे किरदार महुआ को लोग काफी पसंद कर रहे हैं। हमारे धारावाहिक का कॉन्सेप्ट अलग है। नथ उतराई की कुप्रथा के ऊपर यह शो बेस्ड है। सीरियल की पूरी टीम अच्छी है और साथी कलाकारों के साथ बॉन्डिंग बेहतरीन है।     

नथ ज़ेवर या ज़ंजीर ' के हल्दी सीक्वेंस में चाहत पाण्डेय हुईं इमोशनल

इस शो में बेहद महत्वपूर्ण किरदार अदा कर रही अंजना सिंह ने कहा कि इस शो की कहानी काफी अच्छी और डिफरेंट है। इस वजह से दर्शक इसे बेपनाह पसन्द कर रहे हैं। हमें जब इस हल्दी सीक्वेंस को शूट करने में इतना मजा आ रहा है तो उम्मीद है कि ऑडिएंस भी इसे खूब सराहेगी।     इस शो के इस बेहद ट्विस्ट वाले सीन के दौरान धारावाहिक के तमाम कलाकार मौजूद रहे। इस शो में प्रतिमा कनन दुर्गा के रोल में हैं जबकि रवि गोसाई अवतार की भूमिका में। पियो मरी मेहता बनी हैं गौरी तो अर्जित तनेजा शंभु हैं। अनुराग शर्मा रमेश की भूमिका में और अंजना सिंह पद्मा के रोल में हैं। आँचल टंकवाल राधे के रोल में, राधिका छाबड़ा रीना और चाहत पाण्डेय महुआ बनी हैं। वैभवी कपूर बूंदी के रोल में तो रिया भट्टाचार्जी कजरी के क़िरदार में हैं। ममता सोलंकी बुआ के किरदार में हैं। दंगल टीवी पर नथ ज़ेवर या जंजीर हर सोमवार से शनिवार रात दस बजे प्रसारित किया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button