Advertisement
प्रदेश
Trending

CBI ने रिश्वत के मामले में रेलवे के इंजीनियर समेत 3 लोगों को किया गिरफ्तार, 9 जगहों पर की छापेमारी

Advertisement

केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने 15 लाख रुपये की रिश्वत लेने के आरोप में नॉर्थ फ्रंटियर रेलवे के मालेगांव गुवाहाटी में तैनात उप मुख्य इलेक्ट्रॉनिक अभियंता समेत रिश्वत लेने और देने वाले तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तारी के बाद सीबीआई ने गुवाहाटी (असम) पटना (बिहार) और नोएडा (यूपी) में 9 जगहों पर छापेमारी की. इस दौरान अनेक महत्वपूर्ण दस्तावेज के साथ नगदी आदि बरामद किए जाने का दावा किया गया है.

सीबीआई प्रवक्ता आर सी जोशी के मुताबिक, जिन लोगों को गिरफ्तार किया गया है उनमें रेलवे के इंजीनियर रंजीत कुमार बौराह समेत सन साइन डिवाइस कंपनी लिमिटेड, पटना के निदेशक चिंतन जैन और उनका कर्मचारी नीरज कुमार शामिल है. सीबीआई के मुताबिक, विभिन्न आपराधिक धाराओं के तहत दर्ज इस मामले में इन तीनों के अलावा अज्ञात सरकारी नौकरी एवं निजी लोगों को भी आरोपी बनाया गया है.

इस मामले में आरोप है कि रेलवे में तैनात उप मुख्य विद्युत अभियंता रंजीत कुमार ने निजी कंपनी सनशाइन डिवाइस कंपनी के निदेशक को इसके पहले भी अनेक अवैध लाभ पहुंचाए थे और इन लाभों के बदले लाभ लिया था. यह भी आरोप है कि रंजीत कुमार ने इस कंपनी के निदेशक से कहा कि वह उसे भविष्य में भी लाभ पहुंचाता रहेगा. इसके बदले दो करोड़ रुपये की धनराशि मांगी थी. आरोप है कि उक्त कंपनी ने इस रेलवे अधिकारी को रिश्वत की रकम किस्तों में पहुंचाने भी शुरू कर दी थी

सीबीआई को जब यह सूचना मिली, तो इसे आरंभिक तौर पर सत्यापित किया गया. इस सत्यापन के दौरान सूचना में तथ्य पाए जाने पर मुकदमा दर्ज किया गया. सीबीआई ने इसके साथ ही उक्त रेलवे अधिकारी को 15 लाख रुपये की रिश्वत का आदान प्रदान कर रहे निजी कंपनी के कर्मचारी समेत रेलवे अधिकारी और उसके बाद कंपनी के निदेशक को भी गिरफ्तार कर लिया. इस रेलवे अधिकारी ने उक्त निजी कंपनी के निदेशक समेत अन्य लोगों को क्या-क्या अवैध लाभ दिलाए थे इसके बारे में जांच की जा रही है. गिरफ्तारी के बाद सीबीआई ने पटना, नोएडा और गुवाहाटी में 9 जगहों पर छापेमारी की और इस छापेमारी के दौरान बरामद सामान का भी आकलन किया जा रहा है. मामले की जांच जारी है

Advertisement
Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button