छत्तीसगढ़प्रदेश
Trending

मोदी एवं भाजपा के घटते प्रभाव से घबराई भाजपा, अपनी साख बचाने कर रही है नोटंकी-शिशुपाल शोरी

छत्तीसगढ़ कांकेर- विरेन्द्र पटेल- संसदीय सचिव एवं विधायक कांकेर शिशुपाल शोरी प्रेस विज्ञप्ति जारी कहा कि आज कल भाजपाई प्रदेश सरकार के बुराई करने में अपना वक्त जाया कर रहे है जबकि आज का प्रमुख मुद्दा पेट्रोल, डीजल के बढ़ते कीमत, बढ़ती महंगाई, रोजगार के सीमित हो रहे अवसर और उन तमाम मुद्दों जिनका भारतीय अर्थ व्यवस्था पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है उस पर चर्चा करने के लिए केाई भी भाजपाई सामने नहीं आ रहा है । अगर भाजपाई सही में जनता की भलाई चाहते है तो राज्य सरकार को कोसने के बजाय प्रधानमंत्री मोदी एवं भाजपा के अध्यक्ष जे.पी. नड्डा जी से संवाद करे एवं जनता को महंगाई,

बेरोजगारी एवं भ्रष्टाचार से मुक्ति दिलवाये। हाल के विधानसभा चुनाव में स्पष्ट हो गया है कि प्रधानमंत्री मोदी का मैजिक लगातार घट रहा है आगे आने वाले विधानसभा चुनाव एवं लोकसभा चुनावों में अपनी करारी हार के भ्रम से ग्रसित है। भूपेश बघेल की सरकार जो जनता के हित में जबरदस्त फैसले ले रही है चाहे वो ऋण माफी का मामला हो या गरीब उपभोक्ताओं को आधे विद्युत बिल, किसानों के सिंचाई कर के माफ करने का मामला किसानों को ऋण से मुक्त कराकर ग्रामीण अर्थ व्यवस्था को मजबूत करने का प्रयास किया जा रहा है, साथ ही नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के अवसर सृृजित किया जा रहा है जिसिसे लाखों महिला स्व सहायता समूहों को छोटे व्यवसायी वन उपज आधारित उद्योग एवं कुटीर उद्योग के माध्यम से आत्म निर्भर प्रदेश सपना पूरा हो रहा है।

भाजपाई अच्छी तरह से समझ ले कि उनके भुलावे में छत्तीसगढ़ की जनता नहीं आने वाली है 15 साल का भाजपा कार्यकाल काले अध्याय के रूप में छत्तीसगढ़ की जनता के मनोमस्तिक में अंकित है अपने 15 वर्षों के कार्यकाल में जो भ्रष्टाचार औरर अत्याचार किया गया है उसे क्षमा करने के मुड़ में प्रदेश की जनता नहीं है। भाजपा अनर्गल प्रलाप करना छोडे और जान ले कि जितना राज्य सरकार के खिलाफ भ्रामक प्रचार करेंगे उतना ही नुकसान आगामी चुनाव में उठाना पड़ेगा। कही एैसा न हो कि छत्तीसगढ़ में केवल 14 दिनों में सिमटने वाली भाजपा को दहाई का आंकड़ा भी नसीब न हो ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button