विज्ञापन
बिहार
Trending

Bihar News: प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन में लगाई आग, शहर में भारी बवाल

Bihar News: सेना में भर्ती के लिए लाई गई अग्निपथ योजना के खिलाफ छपरा में जमकर बवाल हुआ. उग्र प्रदर्शनकारियों ने सरकारी और निजी संपत्ति को जमकर क्षति पहुंचाई. इस दौरान हिंसक युवाओं के निशाने पर विशेष तौर पर ट्रेन रहा. यहां 2 यात्री गाड़ियों के साथ ही एक निरीक्षण यान को आग के हवाले कर दिया गया. बाद में पुलिस ने 8 चक्र फायरिंग की जिसके बाद मामला शांत हुआ और प्रदर्शनकारी भाग खड़े हुए. पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को खदेड़ते हुए एक दर्जन उपद्रवी छात्रों को गिरफ्तार कर लिया

मौके पर पहुंचे डीएम राजेश मीणा ने स्थिति को नियंत्रण में बताया और कहा है कि जो भी उपद्रवी इस घटना में शामिल होंगे उन्हें चिन्हित कर गिरफ्तार किया जाएगा. रेलवे ने भी क्षति का आकलन शुरू कर दिया है. प्रदर्शन की शुरुआत सुबह राजेंद्र कॉलेज से हुई जहां बड़ी संख्या में छात्र एकत्र हो गए और प्रदर्शन करने के लिए शहर की तरफ रवाना हुए. देखते ही देखते छात्र उग्र हो गए जिन्होंने रास्ते से गुजर रही गाड़ियों को क्षतिग्रस्त करना शुरू कर दिया. कई दुकानों को भी तोड़फोड़ की गई जिसके कारण शहर में कर्फ्यू जैसे हालात बन गए.

प्रदर्शनकारी छात्रों ने सरकार के इस नए नियम को छात्रों के लिए नुकसानदायक बताया और कहा कि इससे छात्रों की बेरोजगारी बढ़ेगी. जो छात्र सेना में भर्ती की तैयारी कर रहे हैं उन्हें इस नए नियम से काफी नुकसान होगा. इस आंदोलन का असर ग्रामीण क्षेत्रों में भी देखने को मिला. मशरक-छपरा मुख्य पथ एसएच- 90 एवं सिवान-सितलपुर मुख्य पथ एसएच-73 पर मशरक महाराणा प्रताप चौक पर आगजनी कर सड़क जाम कर हंगामा शुरू कर दिया. राजापट्टी स्टेशन पर उग्र प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन रोक जमकर प्रदर्शन किया

मशरक के कई अन्य जगहों पर छात्र ने टायर जलाकर प्रदर्शन कर टीओडी का विरोध किया. मढौरा एसडीपीओ इन्द्रजीत बैठा एवं थानाध्यक्ष मशरक राजेश कुमार दलबल के साथ मौके पर पहुंचे थे. एसडीपीओ इन्द्रजीत बैठा ने उग्र प्रदर्शनकारी छात्रों के गुस्से को शांत कराने का प्रयास कर रहे थे. एसडीपीओ इन्द्रजीत बैठा ने उग्र छात्रों को बताया कि आपकी मांगों को सरकार तक प्रशासन और मीडिया के माध्यम से पहुंचा दिया जाएगा

विज्ञापन
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button