छत्तीसगढ़
Trending

बस्तर रेल आंदोलन पदयात्रा पहुंची कोंडागांव भव्य स्वागत सत्कार के साथ हुई जनसभा

राजा कोष्टा बस्तर:- 03अप्रैल से 12अप्रैल तक अंतागढ़ से जगदलपुर तक पदयात्रा के माध्यम से जनजागरूकता अभियान चला रहे हैं 03अप्रैल से अंतागढ़ से शुरू हुई पदयात्रा कल शाम कोंडागांव जिला प्रवेश किया जिसका ग्रामीणों ने आगे आकर स्वयं से समर्थन देते हुए पदयात्रियों का हौसला बढ़ाया और तन मन से सहयोग करते हुए आगे बढ़े उमरगांव में सर्व समाज के पदाधिकारीयों व स्थानीय ग्रामीणजनों कि उपस्थिति में स्वागत सम्मान के साथ एक छोटी सी सभा का आयोजन हुआ उसके पश्चात कदम से कदम मिलाते हुए पदयात्रियों के साथ

सभी जन जोंन्द्रापदर पहुंचे जहां ग्रामीणों ने स्वागत किया और सर्व समाज द्वारा पदयात्रियों के विश्राम हेतु निर्धारित जगह पर छोड़ा जहां से 08 अप्रैल कि सुबह 10 बजे पुनः पदयात्रियों का काफिला जोंन्द्रापदर से पुरे दम खम के साथ कोंडागांव जिला मुख्यालय कि ओर निकला रास्ते में सर्व समाज पदयात्रियों का बाट जोह रहा था पदयात्रियों के पहुंचते ही पारम्परिक मांदरी बाजा व बैंड बाजे के साथ सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए सभा स्थल पहुंचे जहां पर पहले से ही सामाजिक जन मौजूद थे। कार्यक्रम स्थल पर मंच में सभी अतिथियों व पदयात्रियों को स्थान दिया गया

जबकि कार्यक्रम आयोजक मंडल सर्व समाज के पदाधिकारी आमजन के साथ बैठे कार्यक्रम में तिलक चंदन लगाकर अभिनन्दन करते हुए कार्यक्रम को आगे बढ़ाया स्वागत भाषण सर्व समाज अध्यक्ष धंसराज टंडन ने दिया वहीं प्रमुख वक्ता के रूप में गोंडवाना समाज जिलाध्यक्ष मनहेर कोर्राम ने कहा सरकार किसी कि भी हो हम बस्तरवासियों को सिर्फ छला गया है हम अपनी लड़ाई खुद लड़ेंगे बस्तर में रेल लाकर रहेंगे अगर पदयात्रा से सरकार नही मानी तो आगे भी लड़ाई जारी रहेगी सर्व आदिवासी समाज के संरक्षक सी आर कोर्राम ने कहा बस्तर के साथ छलावा बहुत हुआ अब बस्तरवासी जाग गए हैं बस्तर के हितों को भलीभांति समझ रहे हैं जिसका परिणाम है बस्तर रेल आंदोलन। नीलकंठ शार्दुल ने कहा जमीन के ऊपर कि सम्पदा को सरकार ने खत्म कर दिया है जमीन के अंदर कि खजाने का भी लगातार दोहन किया जा रहा है

बस्तर कि सम्पत्ति से प्राप्त राशि का अगर दो प्रतिशत भी बस्तर में खर्च होता है तो बस्तर किसी सुविधा से वँचित नही रहेगा। इसके बाद बस्तर रेल आंदोलन पदयात्रा के प्रमुख सम्पत झा ने अपने ओजस्वी भाषण में विस्तार से बताया कि बस्तर रेल आंदोलन कि जरूरत क्यों पड़ी कहा कि अब तक कि सरकारों ने बस्तर के विकास कि बात तो बहुत कही बस्तवासियों के विकास कि नही सोचा बस्तर के विकास से सरकार को लाभ है बस्तरवासियों के विकास से कोई लेना देना नही अगर अब तक कि सरकारें बस्तर वासियों के हितों कि सोंची होती तो अब तक बस्तर में रेल दौड़ती हम बस्तरिया लोगों को रेल के नाम पर सिर्फ लॉलीपॉप पकड़ाई है

अब तक ज्ञापन और मुलाकात के कागजों से दो अलमारी भर चुकि है पर अब कागजों से बात नही होगी अब सीधे आर पार कि लड़ाई होगी चाहे रेल मिले या जेल ज़ब तक बस्तर में रेल नही दौड़ेगी तब तक हमारी आंदोलन जारी रहेगी। सर्व आदिवासी समाज बस्तर संभाग अध्यक्ष दसरथ कश्यप ने कहा बस्तर में रेल नही होने से सबसे ज्यादा प्रभावित है तो वह है आदिवासी वर्ग आज भी कई आदिवासी सामाजिक बंधु हैं जिन्होंने आज तक रेल में चढ़ने कि बात दूर रेल देखा तक नही है बस्तर में रेल लाना होगा सरकार को बस्तर वासियों के हित में कदम उठानी होगी।बस्तर चेम्बर ऑफ़ कॉमर्स के अध्यक्ष मनीष शर्मा ने कहा बस्तर मे रेल आने से आमजनमानस को इसका

सीधा लाभ मिलेगा किसी भी प्रकार कि जीवन उपयोगी वस्तुओं के दाम में फर्क दिखेगा बस्तर में रेल न होने से आज बस्तर संभाग राजधानी से दो दशक पीछे जी रहा है बस्तर में रेल सेवा तत्काल शुरु होनी चाहिए किशोर पारख पूर्व चेम्बर अध्यक्ष ने कहा 70सालों से सरकारों ने केवल धोखा ही दिया है आज सरकार आजादी के अमृत महोत्सव मना रही है और बस्तर में रेल कि पटरी तक नही यह बस्तर का दुर्भाग्य है बस्तर वासियों का दुर्भाग्य है प्र अब नही अब रेल होंगी हमारी लड़ाई सिर्फ इसी लिए है।कार्यक्रम में आभार प्रदर्शन सर्व समाज संरक्षक शांति लाल सुराना ने किया उसके बाद पदयात्रियों कि अगुआई में मान्दरी बाजा व बैंड बाजे के साथ मौजूद सभी सामाजिक जन एवं विभिन्न संगठनों के लोगों कि मौजूदगी में विशाल रैली निकाली गयी जो फारेस्ट ऑफिस के समीप मर्दापाल चौंक में भोजन के साथ समाप्त हुई फिर पदयात्री भोजन के बाद बनियागांव के लिए निकले

जहां पर जिले के पत्रकारों द्वारा दूधगांव में पदयात्रियों के लिए मठ्ठा छाछ का व्यवस्था किया गया आज के कार्यक्रम पदयात्रा में पुरोषत्तम नोयल शंकर लाल गुप्ता जीतू गोलछा रोहित सिंह बेस अभिजीत अजय जैन रितेश जैन राजा कोष्टा नन्हा दुबे गाजिया अंजुम सुनीता उमरवैश्य उमा गुप्ता जयश्री राव अमरीक सिंह अशोक अरोरा भवर बोथरा मिंटू कर किशोर सुरेश यादव संत अनिल पटेल किशोर पटेल तुलसी पटेल नवरत्न जलोटा विमल बोथरा रमेश उमर वैश्य चन्देश चांडक शिखर मालू सन्नी बजाज हनीफ सुशील थॉमस जय बत्रा सरबजीत सिंह सूरी गौतम लुक्कड़ मोहर झा मनोज राय राजेंद्र सिंह राजू राव रूपेश झा महेश पटेल विपिन जोबनपुत्रा लखबीर सिंह विवेक गुप्ता हरेंद्र भल्ला धमेंद्र चौहान सुनील गिरधर सहित मो शमीम मो इमरान कोंडागांव सर्वसमाज से
आर के जैन, एम डी बघेल, डी एस साहू, प्रेमसिंघ नाग, श्रीनिवास नायडू, बसंत साहू, मनोज देवाँगन, रितेश पटेल, तरुण नाग, शोभाराम ठाकुर, श्याम सिंह, भारत जैन, विरेंद्र बैज, शंकर नेताम, तरुण गोलेछा, खीरेंद्र यादव, शीतल कोर्राम, नीलकंठ शार्दूल, सुरेंद्र मिश्रा, आइ सी निषाद, मनमोहन सिंह, जी पी यादव, समन वर्मा, अधिवक्ता संघ व्यापारी संघ
अखिल भारतीय पुर्व सैनिक सेवा परिषद कोंडागांव
सर्व समाज के सभी सामाजिक जनों के साथ विभिन्न संगठनों से बड़ी लोग मौजूद रहे।
सादर संग्लन फ़ोटो

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button