छत्तीसगढ़प्रदेश

10 दिन की कठिन साधना “विपश्यना”/एकांतवास के बाद आज लौटेंगे अमित जोगी

रायपुर, छत्तीसगढ़, जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मुख्य प्रवक्ता अधिवक्ता भगवानू नायक ने कहा 10 दिन की कठिन साधना “विपश्यना” /एकांतवास के बाद छत्तीसगढ़ राज्य की एकमात्र मान्यता प्राप्त क्षेत्रीय राजनीतिक दल जनता काँग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रदेशाध्यक्ष श्री अमित जोगी दिनांक 30 सितंबर को अपने घर वापस आएंगे । इस दौरान कार्यकर्ताओं के द्वारा सादगी के साथ उनका स्वागत किया जाएगा। श्री अमित जोगी अंजोरा दुर्ग स्थित ध्यान केंद्र में विपश्यना साधना करने के लिए विगत दिनांक 19 सितंबर से गए है जो दस दिन बाद अपने घर लौटेंगे।

भगवानू नायक ने कहा हमें गर्व है हमारे प्रदेश अध्यक्ष श्री अमित जोगी पर जिन्होंने 10 दिनों तक सांसारिक जीवन से दूर रहकर कठिन साधना और तपस्या की है। श्री अमित जोगी जी के नेतृत्व में हम सभी जोगी कांग्रेसी छत्तीसगढ़ की जनता और छत्तीसगढ़ महतारी के लिए दुगने उत्साह के साथ काम करेंगे और और स्वर्गीय जोगी जी के सपनों को साकार करेंगे। विपश्यना एक कठिन साधना है, जिसे अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी राष्ट्रीय महासचिव श्री राहुल गांधी जी एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल भी कर चुके हैं।

उन्होंने कहा ज्ञात हो कि विपश्यना व्यक्ति को जीवन में आने वाली समस्याओं का सफलतापूर्वक समाधान खोजने में समर्थ बनाता है, कठिन परिस्थितियों में अविचलित रहकर उनका सामना करने की क्षमता उसमें आ जाती है, अपने अंत:स्थल में शांति का अनुभव करने कराता है। उन्होंने कहा विपश्यना जीवन जीने की एक खूबसूरत कला है, विपश्यना वास्तव में सत्य की उपासना है। विपश्यना साधना का मुख्य लक्ष्य चित्त की शुद्धि करना है | विपश्यना के माध्यम से साधना करनें वाले व्यक्ति राग , द्वेष , भय , मोह , लालच आदि विकारों , दैनिक जीवन के तनावों और मानसिक बंधनों से मुक्ति प्राप्त कर लेता जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button