छत्तीसगढ़प्रदेश

सामूहिक विवाह में 297 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे

कांकेर – महिला एवं बाल विकास मंत्री तथा कांकेर जिले के प्रभारी मंत्री श्रीमती अनिला भेड़िया के मुख्य आतिथ्य में अंतागढ़ के उन्मुक्त खेल मैदान में आयोजित मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना अंतर्गत 297 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे। नव दंपत्तियों को सुखमय जीवन के लिए अपना आर्शीवाद देते हुए उन्हें कहा कि इस योजना के क्रियान्वयन से कमजोर वर्ग के लोगों को राहत मिली है तथा फिजूल खर्ची रूका है।

सामूहिक विवाह में सभी समाज व वर्ग के लोग भागीदारी निभा रहें हैं। उन्होंने बताया कि इस योजना अंतर्गत पहले 15 हजार रूपये का प्रावधान किया गया था, जिसे मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा बढ़ाकर 25 हजार रूपये कर दिया गया है। वर-वधु दोनो दिव्यांग होने पर 01 लाख रूपये की सहायता दी जाती है। इस प्रावधान के लिए उनके द्वारा मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के प्रति आभार व्यक्त किया गया।

परिणय सूत्र में बंधे नव दंपत्तियों को अपना आर्शीवाद देते हुए महिला एवं बाव विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेेड़िया ने कहा कि जिस प्रकार उन्हे अपने मायके मे माॅ-बाप का प्यार दुलार अपको मिला है, उसी प्रकार ससुराल में भी परिवार के सभी लोगों का स्नेह मिले। अपने सास को माॅ के समान समझें और पूरे परिवार का स्नेह प्राप्त करें। उन्होंने कहा कि जीवन में उतार चढ़ाव आते रहते है, उससे घबराना नहीं और अपने परिवार को खुशहाल रखना है, बेटियाॅ दो परिवारों को जोड़ती है तथा कुल को आगे बढ़ाती है। नव दंपत्तियों को आर्शीवाद देते हुए उन्होंने कहा कि आप को मायके और ससुराल दोनों परिवार से स्नेह और दुलार मिले और आप सदा सुखी रहें, आपका जीवन उज्जवल हो।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए अंतागढ़ के विधायक एवं मुख्यमंत्री अधोरंसचना विकास प्राधिकारण के सदस्य श्री अनुप नाग ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना अंतर्गत सामुहिक विवाह का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें रीति-रिवाज, पंरपरा का पालन करते हुए बेटियों का सामूहिक विवाह संपन्न किया जा रहा है। अंतागढ़ में इस कार्यक्रम का आयोजन होना इस अंचल के लिए गर्व की बात है।  उन्होंने कहा कि प्रत्येक माता-पिता अपने संतान का व्यस्क होते ही उसके विवाह के लिए चिंतित रहते है।

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा आयोजित मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना से गरीब परिवारों को इस चिंता से मुक्ति  मिली है, इस योजना के क्रियान्वयन से फिजूल खर्ची भी रूका है। शासन द्वारा परंपरा का पालन करते हुए धूम-धाम से कन्या का विवाह संपन्न कराया जा रहा है। श्री नाग ने नव दंपत्तियों को उनके सुखमय जीवन के लिए अपनी शुभकामना एवं आर्शीवाद दिया।

कार्यक्रम को जिला पंचायत के अध्यक्ष श्री हेमंत ध्रुव ने भी संबोधित किया। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए बहुत मदतगार साबित हो रहा है। सरकार ने इन परिवारों के बेटियों के विवाह का बीड़ा उठाया है और पूरे रीति रिवाज के अनुसार बेटियों का विवाह संपन्न कराया जा रहा है, साथ ही उन्हें उपहार सामग्री व प्रोत्साहन राशि भी प्रदाय की जा रही है।

उन्होंने कहा कि छत्त्ीसगढ़ सरकार द्वारा महिलाओं उत्थान के लिए अनेक कार्यक्रम संचालित किये जा रहा है, साथ ही कुपोषण से मुक्ति के लिए भी मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान  चलाया जा रहा है। श्री ध्रुव ने परिणय सूत्र में बंधे नव दंपत्तियों को अपनी शुभकामनाएं दी।

कार्यक्रम को योजना आयोग के सदस्य श्रीमती कांतीबाई नाग ने संबोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार महिलाओं के सशक्तिरण के लिए बहुत संवेदनशील है। उनके आर्थिक मजबूती के लिए अनेक कार्यक्रम संचालित किया जा रहा हैं। स्व-सहायता समूहों के माध्यम से उन्हे आर्थिक गतिविधियों से जोड़ा जा रहा है, जिससे उनके जीवन स्तर में बदलाव आया है। उन्होंने परिणय सूत्र में बंधे दंपत्तियों को अपना आर्शीवाद एवं शुभकामनाएं दी।

अपर कलेक्टर श्री सुरेन्द्र कुमार वैद्य ने अपने उद्बोधन में बताया कि मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना अंतर्गत अंतागढ़ में आयोजित कार्यक्रम में 297 जोड़ो का सामूहिक विवाह किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस योजना अंतर्गत शासन द्वारा  दंपत्तियों को 19 हजार रूपये की सामग्री एवं एक हजार पांच सौ रूपये प्रोत्साहन एवं परिवहन राशि नकद प्रदाय की जाती है तथा 04 हजार 05 सौ रूपये आयोजन में व्यय किये जाते हैं। श्री वैद्य ने सामूहिक विवाह में उपस्थित सभी लोगों का आभार व्यक्त करते हुए नव दंपत्तियों को अपना आर्शीवाद एवं शुभकामनाएं दी।

इस अवसर पर बस्तर विकास प्राधिकरण के सदस्य  श्री बिरेश ठाकुर, पर्यटन मण्डल के सदस्य नरेश ठाकुर, जिला पंचायत के पूर्व अध्यक्ष श्रीमती सुभद्र सलाम, जिला पंचायत के उपाध्यक्ष श्री हेमनारायण गजबल्ला, जनपद पंचायत अंतागढ़ के अध्यक्ष श्री बद्रीनाथ गावड़े, जिला पंचायत सदस्य श्रीमती अमिता उईके, कांकेर विधायक प्रतिनिधि सुनील गोस्वामी, अखिलेश चन्देल, मुकेश ठक्कर, जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी सी.एस मिश्रा, एसडीएम अंतागढ़ उत्तम पंचारी सहित जनप्रतिनिधी एवं वर-वधु के माता-पिता और ग्रामीणजन बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button