छत्तीसगढ़

सर्पदंश के दो गम्भीर बच्चो का एनएमडीसी अपोलो अस्पताल में सफल इलाज

गम्भीर हालत में अलग अलग समय मे अस्पताल लाये गए थे बच्चे बेहद ही जहरीले सांप ने डसा था।

बचेली :- वो कहते है ना कि डॉक्टर ईश्वर का धरती पर दूसरा रूप है, हम बात कर रहे है एनएमडीसी अपोलो अस्पताल बचेली के डॉक्टरों की जिनके अथक परिश्रम से जहरीले सर्प का दंश झेल चुके 2 बच्चे स्वस्थ होकर अब अपने घर लौट चुके है।

दरअसल बता दे कि मामला बीते दिनों का है इन दिनों भारी बारिश की वजह से सर्पदंश के मामले सामने आए है।पोरो कमेली की 15 वर्षीय बालिका संतोषी को करैत सांप ने डस लिया था जिसके बाद उसे एनएमडीसी अपोलो अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। बालिका की हालत गंभीर थी जहर फैल चुका था उसे डॉक्टरों ने वेलन्टिलेटर पर रहा व एंटीवेनम की खुराक दी गयी। जिसके बाद डॉ महंता,डॉ दीपक रेड्डी,अमिता रेड्डी ने सफल इलाज किया व बालिका स्वस्थ होकर अपने घर लौट गई।

सर्पदंश

वही एक अन्य मामले में दुगेली के 5 वर्षीय बालक गुड्डी को जहरीले रसल्स वाइपर सांप ने डस लिया था। बता दे कि बालक के पैरों में विष के चलते बेहद ही गम्भीर घाव हो गए थे जिसके बाद सर्जन अजय बाबू ने बालक की सर्जरी कर उसे ठीक किया। बालक की हालत बेहद गम्भीर थी जिसके बाद शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ सिदार ,डॉ एम पवन रेड्डी ने पूरी मेहनत से इलाज किया। बालक फिलहाल उपचार ले रहा है व खतरे से बाहर है।

अस्पताल के सीएमए डॉ हक ने पब्लिक एप को बताया कि एनएमडीसी अपोलो अस्पताल के चिकित्सक पूरी लगन से इलाज कर रहे है जिससे दोनों बच्चो को बेहतर इलाज मिला व दोनो स्वस्थ हो चुके है। एनएमडीसी इस क्षेत्र में बेहतर स्वास्थ्य के लिए अपोलो अस्पताल के सहयोग से बेहतर से बेहतर प्रयास कर रही है।

Show More

Related Articles

Back to top button