छत्तीसगढ़राजनीति

शराबबंदी की मांग को लेकर भाजपा का प्रदर्शन आज

पार्षद दीपक जायसवाल ने पीसीसी मोहन मरकाम को प्रदर्शन में शामिल होने दिया आमंत्रण

रायपुर :- राज्य की कांग्रेस सरकार ने साल 2018 के जन घोषणा पत्र में शराबबंदी का वायदा किया था। करीब 4 साल बीत जाने के बाद भी सरकार यह वायदा पूरा नही कर पाई है। शराबबंदी की वायदा को याद दिलाने के लिए 21 सितंबर बुधवार को रायपुर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र के जी.ई रोड राजकुमार कॉलेज के सामने खुले शराब दुकान के बाहर एक दिवसीय प्रदर्शन किया जाएगा।

इस प्रदर्शन का नेतृत्व भाजपा पार्षद दीपक जायसवाल करेंगे। इसमें बड़ी संख्या में मातृशक्ति भी शामिल होगी।पार्षद दीपक जायसवाल ने बताया कि शराबबंदी की मांग को लेकर आयोजित इस प्रदर्शन में उन्होंने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम को भी आमंत्रित किया है।

आमंत्रण देने खुद मंगलवार को उनके बंगले गए थे और कार्ड सौपकर भाजपा के इस प्रदर्शन में शामिल होने का आग्रह किया है। श्री जायसवाल ने आरोप लगाया कि शराबबंदी का झूठा वायदा कर सत्ता में आई कांग्रेस सरकार ने अपना वायदा पूरा नही किया। उल्टे करीब 4 सालों में शराब से राजस्व को बढ़ा दिया, दिखावे के लिए इस सरकार ने 50 दुकानें बंद करने की घोषणा की, जबकि प्रीमियम दुकान और देशी विदेशी शराब का अलग काउंटर पूरे प्रदेश में शराब दुकानों की संख्या बढ़ाकर 718 के ऊपर ले गई।

उन्होंने कहा कि गत दिनों मरीन ड्राइव में कृष्णकुंज के उद्घाटन में मुख्यमंत्री से तेलीबांधा की शराब दुकान हटाने की घोषणा की थी, कलेक्टर ने बाकायदा अधिसूचना भी जारी किया ,मगर महीनेभर बाद भी दुकान नही हटाई गई। श्री जायसवाल ने आरोप लगाया कि शराब के नाम पर कांग्रेस सरकार केवल 2 नम्बर की कमाई में लगी हुई है, राजधानी में खुलेआम शराब बिक रहा है, मनमाने कीमत वसूली जा रही है, शराब दुकान के बाहर असामाजिक तत्वों का जमावड़ा है।

अहाता के नाम पर शराब पिलाई जा रही है, मगर जिला प्रशासन आंखे बंद कर बैठा है।श्री जायसवाल ने कहा कि इन्ही सब मुद्दों को लेकर कल भाजपा शराबबंदी के खिलाफ प्रदर्शन करेगी। इसमें आम जनता का भी सहयोग रहेगा, क्योंकि शराब से महिला उत्पीड़न, हिंसा में लगातार वृद्धि हो रही है। इसलिए महिलाएं भी प्रदर्शन में भाग लेंगी

Show More

Related Articles

Back to top button