Advertisement
छत्तीसगढ़प्रदेश

कांकेर : गोधन न्याय योजना से पशुपालक एवं महिला समूहों को लाभान्वित करें- सुमित अग्रवाल

Advertisement

कांकेर – गौठानों के सुचारू संचालन एवं क्रियान्वयन के लिए जिला पंचायत कांकेर के सभाकक्ष में जनपद पंचायत अंतागढ, नरहरपुर एवं कांकेर अंतर्गत तृतीय चरण की समीक्षा बैठक आयोजित की गई। गौठानों में आवश्यक अधोसंरचना जैसे- बोर खनन, फेंसिग, वर्मी टांका, गोबर खरीदी हेतु तराजु, पशुपालको का पंजीयन, खरीदी की गई गोबर की एप्प में एन्ट्री करने एवं क्रियान्वित की जाने वाली कार्यो की समीक्षा करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिये।

मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने कहा कि गौठानों में गोधन न्याय योजना के संचालन से जिले के पशुपालकाे को गोबर से आय अर्जित हो रही है, जिले में अब तक 02 करोड 74 लाख रूपये का 137406 क्विंटल गोबर खरीदी गई है, जिसका भुगतान पशुपालकों के खाते में हस्तांतरित किया जा चुका है। राज्य शासन का गोधन न्याय योजना पशुपालकों के लिए वरदान साबित हो रही है, जिससे पशुपालक आत्मनिर्भर हो रहे है।खरीदे गये गोबर से वर्मी खाद, सुपर कम्पोस्ट, दिया, लकड़ी एवं अन्य उत्पाद बनाये जा रहे है, इससे गौठानों से जुडे महिला समुहों को स्थानीय स्तर पर रोजगार और आय की प्राप्ति हो रही है और महिलाएं वर्मी खाद बनाकर प्रसन्नता व्यक्त भी कर रही है। वर्मी खाद के निर्माण से जिले में रासायनिक खाद के उपयोग के बजाय जैविक खाद की उपयोगिता बढ रही है। जिसके कारण जैविक खेती को बढावा मिल रहा है, जिससे क्षेत्र में कृषि का विकास निरन्तर हो रहा है। समीक्षा के दौरान सी.ई.ओ. जिला पंचायत श्री सुमीत अग्रवाल ने निर्देशित करते हुए कहा कि गोधन न्याय योजना में किसी प्रकार की लापरवाही बरदास नही की जावेगी, सभी नोडल अधिकारी राज्य शासन के महत्वाकांक्षी योजनाओं का सुचारू रूप से क्रियान्वयन कराना सुनिश्चित करें।  

बैठक में उप संचालक कृषि एनके नागेश, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत अंतागढ़ पीआर साहू, नरहरपुर पीके गुप्ता एवं कांकेर अश्वनी यादव, ग्राम पंचायत सचिव, उद्यानिकी विभाग के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

Advertisement
Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button