छत्तीसगढ़

करोड़ों का गमन करने वाले तीन आरोपियों को पुलिस ने धर दबोचा एक आरोपी अभी भी पुलिस के गिरफ्त से बाहर है

Advertisement
Advertisement

संवाददाता राजा कोष्टा जगदलपुर ::_सीएमएस कंपनी जो बैंक से धनराशि लेकर विभिन्न एटीएम में राशि जमा करने का कार्य करती है। सीएमएस कंपनी की ओर से थाना कोतवाली में लिखित आवेदन प्रस्तुत किया गया है, कि कंपनी के कस्टोडियन एवं आरोपियों के द्वारा बैंक से एटीएम में राशि जमा करने के नाम पर राशि लेकर धोखाधडी करने के संबंध में कार्यवाही हेतु शिकायत पत्र दिया गया है। उक्त शिकायत आवेदन पर थाना कोतवाली में आरोपी (1) योगेश यादव (2) कौशल यादव (3) ललित नारायण साहू एवं (4) मंजूर रजा के विरूद्ध धारा 406, 409, 420, 120(बी), 34 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर अनुसंधान में लिया गया है।

प्रकरण में उप महानिरीक्षक एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र सिंह मीणा एवं अति0 पुलिस अधीक्षक ओम प्रकाश शर्मा के मार्गदर्शन एवं नगर पुलिस अधीक्षक हेमसागर सिदार के पर्यवेक्षण में थाना प्रभारी कोतवाली एमन साहू के नेतृत्व में टीम गठित कर अनुसंधान प्रारंभ किया गया दौरान विवेचना में संदेही योगेश यादव, कैलाश यादव एवं ललित नारायण साहू को पकड़ा गया, जिनसे पूछताछ पर पाया गया कि योगेश यादव एवं कैलाश यादव दोनो सीएमएस कंपनी के कस्टोडियन है, जो प्रतिदिन बैंक से निर्धारित राशि आहरित कर संबंधित एटीएम में जमा करने जाते थे एवं मुख्य आरोपी योगेश यादव उर्फ योगी संबंधित एटीएम में निर्धारित राशि जमा ना कर अपनी मर्जी से कम राशि जमा करता था और अंतर की राशि अपने व्यक्तिगत उपयोग एवं शान शौकत में खर्च करता था। एवं उक्त राशि में से कुछ राशि इसके द्वारा कैलाश यादव एवं आडिटर ललित नारायण साहू को भी दिया है। आरोपी योगेश यादव के द्वारा अपने शान शौकत में कई महंगेे सामान खरीदना एवं उपयोग करना बताया है।

उक्त राशि में से अधिकांश राशि आॅन लाईन तरीके से बेटिंग कर रूपये पैसे हार जाना बताया है एवं आरोपी योगेश यादव के कब्जे से मोबाईल फोन, लैपटाप, स्मार्टवाच, चार पहिया वाहन स्कार्पियो, हैरियर, दो पहिया वाहन सुजूकी एक्सेस, एसी, टीवी आदि सामान जप्त किया गया है। इसके अतिरिक्त तीनों आरोपियेां के कब्जे से 8,00,000/-रूपये नगद राशि बरामद कर जप्त किया गया है। मामले में आरोपी योगेश यादव, कैलाश यादव एवं ललित नारायण साहू को गिर0 किया गया है। मामले का आरोपी मंजूर रजा फरार है जिसकी गिरफ्तारी नही हो पायी है। कुछ राशि अपने साथियों को उधार देना बताया है। मामले में आरोपी से पूछताछ हेतु पुलिस रिमांड लिया जा रहा है।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button