छत्तीसगढ़

अवैध नशीले पदार्थ के तस्करी पर बस्तर पुलिस की बड़ी कार्यवाही

संवाददाता राजा कोष्टा जगदलपुर:- उप महानिरीक्षक एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र सिंह मीणा के निर्देशन में बस्तर पुलिस के द्वारा आपराधिक तत्वों के विरूद्ध लगातार कार्यवाही किया जा रहा है। इसी तारतम्य में आज अवैध नशीली पदार्थ (सिरप) के तस्करी पर कार्यवाही करने में बस्तर पुलिस को सफलता मिली है ज्ञात हो कि थाना बोधघाट को सूचना मिला था कि किसी व्यक्ति के द्वारा माडिया चौक जगदलपुर में अवैध नशीली पदार्थ की तस्करी किया जा रहा है। सूचना पर उप महानिरीक्षक एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र सिंह मीणा एवं अति0 पुलिस अधीक्षक ओमप्रकाश शर्मा के मार्गदर्शन में नगर पुलिस अधीक्षक हेमसागर सिदार के पर्यवेक्षण में थाना प्रभारी बोधघाट, लालजी सिन्हा के नेतृत्व में टीम गठित कर कार्यवाही हेतु रवाना किया गया था। उक्त टीम के द्वारा माडिया चौक में चेक पोस्ट लगाकर संदिग्ध वाहनो की चेकिंग किया जा रहा था। दौरान चेकिंग के 01 संदिग्ध वाहन स्कार्पियो क्रमांक सीजी-18-एन-8305 को रोका गया जिसमें 01 संदिग्ध व्यक्ति मिला जिससे पूछताछ करने पर अपना नाम अंकित कश्यप निवासी गीदम दन्तेवाडा का होना बताया, जिसके वाहन की तलाशी लेने पर 150 नग अवैध नशीली रिलेक्सकाॅफ सिरप मिला। जो अवैध एवं प्रतिबंधित नशीली दवा की श्रेणी में आता है। जिस संबंध में पूछताछ करने पर संदेही के द्वारा वैधानिक प्रत्युत्तर प्रस्तुत नही किया गया। आरोपी अंकित कश्यप का उक्त कृत्य एन0डी0पी0एस0 एक्ट की परिधि में आने पर उक्त 150 नग रिलेक्सकाॅफ सिरप प्रत्येक में 100 एम.एल.) आरोपी के कब्जे से बरामद कर जप्त किया गया है। आरोपी के विरूद्ध थाना बोधघाट में धारा- 21 एन0डी0पी0एस0 एक्ट के तहत अपराध पंजीबद्ध कर अनुसंधान में लिया गया है मामले में आरोपी के कब्जे से 150 नग नशीली सीरप, 01 स्कार्पियो वाहन क्रमांक सीजी-18-एन-8305, 01 नग मोबाईल व नगद 4,000/- बरामद कर जप्त किया गया है। आरोपी को मामलें में गिरफ्तार कर न्यायालय रवाना किया गया हैं जप्तशुदा सिरप 15 लीटर जिसकी अनुमानित कीमत 23,000/-रूपये आंकी गई है।

महत्वपूर्ण भूमिका अदा करने वाले अधिकारी:-
निरीक्षक – लालजी सिन्हा
उप निरीक्षक – प्रमोद ठाकुर
सउनि. – धीरेन्द्र सिंह ठाकुर
प्रधान आरक्षक – राजेश सिंह
आरक्षक – रूपेश यादव, सतीश ठाकुर, पीयुष सोनवानी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button